रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के प्रोफेसर की करतूत ...

पढ़ाई के बदले मांगी अस्मत !


रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर पर छात्रा ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। छात्रा कहा ने कुलपति और पुलिस पर शिकायत के बाद भी कार्रवाई न करने के आरोप भी लगाए हैं। छात्रा का कहना है कि प्रोफेसर ने पढ़ाई के बदले उससे अस्मत की मांग की है। मामला रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय का है l  

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार जबलपुर के रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर पर छात्रा ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। छात्रा कहा ने कुलपति और पुलिस पर शिकायत के बाद भी कार्रवाई न करने के आरोप भी लगाए हैं। छात्रा का कहना है कि प्रोफेसर ने पढ़ाई के बदले उससे अस्मत की मांग की है। पीड़िता ने गुरुवार को महिला आयोग से मामले की शिकायत की, जिसके बाद पूरा मामला सामने आया।

पीड़ित छात्रा यूनिवर्सिटी में मास्टर ऑफ सोशल वर्क डिपार्टमेंट के फोर्थ सेमेस्टर की है। छात्रा ने बताया कि पांच महीने पहले यूनिवर्सिटी की करीब 14 छात्राओं को दल चित्रकूट टूर पर गया था, जिसमें गेस्ट फैकल्टी की ओर से  रज्जन द्विवेदी भी साथ गए थे। चित्रकूट में अकेला पाकर रज्जन द्विवेदी ने हाथ पकड़कर मेरे साथ जोर जबरदस्ती करने की कोशिश की, वहीं, विरोध करने पर धमकी दी।

छात्रा ने जबलपुर आने पर सिविल लाइन थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी जहां जीरो पर केस दर्ज करने के बाद डायरी चित्रकूट भेज दी। छात्रा ने यूनिवर्सिटी के कुलपति को भी घटना के बारे में जानकारी दी थी। कुलपति ने छह सदस्यीय समिति बनाई थी।  लॉ डिपार्टमेंट की HOD डॉक्टर दिव्या चंसोरिया को समिति का अध्यक्ष बनाया गया था। कमेटी ने तीन दिन में जांच कर सीडी, पेन ड्राइव के साथ रिपोर्ट कुलपति को सौंपी थी। लेकिन उसके बाद पांच महीने बीत गए प्रोफेसर के खिलाफ किसी तरह की कार्रवाई नहीं की गई। वहीं, पीड़िता का कहना है कि प्रोफेसर  शिकायत वापस लेने के लिए भी उसे धमका रहा है। छात्रा ने महिला आयोग से शिकायत कर जांच की मांग की है।