गैर मुस्लिमों ने भी श्रध्दा के साथ अपनी भावना के अनुसार किया सहयोग…

मातमी धुनों के मध्य महानगर के कर्बला में दफन हुए तजिए


ग्वालियर। मंगलवार को हजरत इमाम हुसैन आली मकाम का ता यौम-ए-शहदत मनाया गया। सुबह से ताजिए स्थानीय कर्बला (सागरताल) पर जुलूस के रूप में ले जाए गए। सुसेरा रोड पर ताजियों को ससम्मान दफनाया गया और सागरताल में विसर्जित किया गया। कर्बला में कमेटी के तत्वाधान में इमाम हुसैन अली मकाम कतो खिराजे अकीदत (श्रद्घांजलि) पेश की। दो साल बाद कोरोनामुक्त माहौल में मोहर्रम का पर्व मनाया जा रहा है। शहर के विभिन्न स्थानों पर रखे ताजियों का सुबह से ही कर्बला पहुंचने का क्रम शुरू हो गया था जो देर शाम तक अनवरत रूप से जारी रहा। इस दौरान मुस्लिम समुदाय के लोगों ने जगह-जगह पंडाल लगाकर पानी और शरबत व पूड़ी सब्जी आदि के स्टॉल लाए। 

शब-ए- शहादत मोहर्रम पर ताजियों ने महाराज बाड़े पर तड़के तक गश्त किया। बाड़े पर ताजिये मातमी धुनों के साथ रात 10 बजे से पहुंचना शुरू हो गए। ताजियों की ऊंची इमारतें लोगों के आकर्षण का केंद्र थीं। बाड़े पर तबर्रूक वितरित करने के लिए स्टाल लगाए गए। मंगलवार को कर्बला पर ताजिये विसर्जित व दफनाएं गए। ताजियों के गश्त के दौरान जिला प्रशासन व पुलिस ने सुरक्षा के इंतजाम किए थे। रात 10 बजे के बाद बाड़े पर वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया था। गत रात से इमाम बाड़ों से ताजिये उठना शुरू हुए। मातमी धुनों के साथ ताजिये महाराज बाड़े पर पहुंचे। यहां बाड़े पर गश्त करने के साथ कुछ समय के लिए विश्राम किया। गश्त के दौरान ताजियों के साथ अखाड़ेदारों ने प्रदर्शन किया। शोक में युवा ढोल-नगाड़े पीटते हुए चल रहे थे।


राजपरिवार का ताजिया रात 12 बजे गोरखी स्थित इमाम बाड़े से मातमी धुन के साथ बाड़े पर आया। गश्त करने के बाद वापस इमामबाड़े में पहुंचा। शंकरपुर, आपागंज, पिछोरो की पहाडिय़ा व रामाजी के पुरा का आकर्षण का केंद्र रहा। तड़के 4 बजे तक महाराज बाड़े पर भारी भीड़ रही।मंगलवार दोपहर सागरताल पहुंचकर अति.पुलिस महानिदेशक ग्वालियर जोन डी श्रीनिवास वर्मा, एसपी अमित सांघी, एएसपी अभिनव चौकसे, सीएसपी मुरार ऋषिकेश मीना, प्रमोद शाक्य, डीएसपी ट्रैफिक नरेश अन्नोटिया, विक्रम सिंह कनपुरिया, थाना प्रभारी बहोड़ापुर अमर सिंह सिकरवार एवम् ताजिया कमेटी के सदस्यों के साथ सागरताल पहुंचे। 

और वहां व्यवस्थाओं का भी जायजा लिया। गत देर रात कत्ल की रात मध्यरात्रि 1:30 बजे एसएसपी अमित सांघी, एडीएम ग्वालियर इच्छित गड़पाले, एएसपी अभिनव चौकसे, डीएसपी ट्रैफिक नरेश अन्नोटिया, विक्रम सिंह कनपुरिया के साथ बाड़ा स्थित वाच टावर से ताजियों के जुलूसों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने व्यवस्थाओं का भी जायजा लिया और जहां भी कमियां नजर आईं वहां पर अधिकारियों को उचित दिशा-निर्देश प्रदान किए। मौहर्रम को लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट रहा और जगह-जगह पुलिस बल तैनात रहा। सागरताल पहुंच रहे लोगों को किसी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े इसके लिए यातयात पुलिस के अलावा विभिन्न थानों का पुलिस बल तैनात रहा। ताजियां निकलने के कारण कई स्थानों पर जाम की स्थिति निर्मित हुई जिसे मौके पर तैनात पुलिस बल ने ठीक कराया।