डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने किया विरोध…

यूपी में तबादलों पर मचा बवाल !

यूपी में इन दिनों तबादलों को लेकर बवाल मचा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग के बाद अब PWD में भी तबादलों की जांच होगी। सीएम योगी ने जांच के आदेश दिए हैं। इससे पहले सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों के तबादले के मामले में जांच के आदेश दिए थे। PWD में तबादलों की जांच APC मनोज कुमार सिंह की अध्यक्षता में होगी। अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी को भी जांच कमेटी का सदस्य बनाया गया है। दरअसल डिप्टी सीएम और स्वास्थ्य मंत्री ब्रजेश पाठक की जानकारी के बिना राज्य में डॉक्टरों के तबादले का आदेश जारी कर दिया गया था। अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने तबादलों की लिस्ट जारी करवा दी थी। 

इस पर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने नाराजगी जताई थी कि हैदराबाद में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के दौरान डॉक्टरों की तबादला लिस्ट जारी कर दी गई थी। हैदराबाद से लौटने पर ब्रजेश पाठक ने अतिरिक्त मुख्य सचिव अमित मोहन को चिट्ठी लिखी कि- 'उनकी जानकारी में आया है कि राज्य भर में डॉक्टरों के तबादले में उचित प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया।' सीएम योगी ने इस मामले में अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी और संजय भूसरेड्डी से 2 दिन में रिपोर्ट मांगी है। 

वहीं PWD विभाग में तबादलों में अनियमितताओं की शिकायत पर सीएम योगी ने जांच के आदेश दिए हैं। बता दें, 30 जून को 450 से अधिक डॉक्टरों के ट्रांसफर की लिस्ट जारी की गई थी। इसमें लखनऊ के बड़े अस्पतालों के भी कई विशेषज्ञ डॉक्टरों का नाम भी शामिल है। डिप्टी सीएम ने अपने पत्र में इस बात का भी जिक्र किया है कि डॉक्टरों के तबादले से लखनऊ समेत अन्य जिलों के कई बड़े अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी हो गई, इससे मरीजों की परेशानी बढ़ेगी। उन्होंने अपर मुख्य सचिव से पूछा कि जिन डॉक्टरों का ट्रांसफर किया गया है उनकी जगह विशेषज्ञ डॉक्टरों की तैनाती के लिए क्या उपाय हैं?