नई शिक्षा नीति की आधारशिला रखने के साथ ही…

PM मोदी आज वाराणसी को देंगे 1800 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात

पीएम मोदी आज वाराणसी दौरे पर रहेंगे। यहां वह काशीवासियों को 1812 करोड़ रुपए से ज्यादा की 45 योजनाओं और परियोजनाओं की सौगात देंगे। वाराणसी में प्रधानमंत्री के तीन मुख्य कार्यक्रम हैं। दोपहर 2 बजे तक पीएम मोदी काशी पहुंचेंगे। इसके बाद वह अर्दली बाजारा स्थित एलटी कॉलेज जाएंगे जहां वह 25 करोड़ की लागत से बने अक्षय पात्र मेगा किचन का उद्घाटन करेंगे। इसके बाद सिगरा स्टेडियम में 12 सौ करोड़ की परियोजनाओं का पीएम मोदी शिलान्यास करेंगे। इसके साथ ही प्रधानमंत्री अखिल भारतीय शिक्षा समागम का भी उद्घाटन करेंगे। 15 हजार वर्ग मीटर में बने अक्षय पात्र किचन में लगी रोटी बनाने वाली मशीन से महज एक घंटे में 40 हजार रोटियां बनाई जा सकती हैं। वहीं इस किचन में एक कढ़ाई वाली मशीन है जिसमें 1600 लीटर दाल तैयार हो सकती है। 

8 जुलाई को इस किचन में 25 हजार बच्चों का खाना बनेगा। जबकि 6 महीने बाद इसी किचन में एक लाख बच्चों का खाना बनने लगेगा। आज काशी में पीएम मोदी अखिल भारतीय शिक्षा समागम’ का उद्घाटन करेंगे। इस सम्मेलन में शिक्षा क्षेत्र से जुड़े विभिन्न पक्षकार उच्च शिक्षा के बदलते परिदृश्य और राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के विविध दृष्टिकोण के बारे में चर्चा करेंगे। शिक्षा मंत्रालय के बयान के अनुसार, केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग और बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के सहयोग से अखिल भारतीय शिक्षा समागम का आयोजन कर रहा है। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान के साथ- साथ सम्मेलन में सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्र के विश्वविद्यालयों के 300 से अधिक कुलपति एवं निदेशक सहित शिक्षाविद, नीति निर्माता, उद्योगों के प्रतिनिधि आदि इस सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। 

7 से 9 जुलाई तक चलने वाले तीन दिवसीय इस समागम के कई सत्रों में बहु-विषयक और समग्र शिक्षा, कौशल विकास और रोजगार, भारतीय ज्ञान प्रणाली, शिक्षा का अंतरराष्ट्रीयकरण, डिजिटल सशक्तिकरण के साथ-साथ ऑनलाइन शिक्षा, अनुसंधान, नवाचार और उद्यमिता, गुणवत्ता, रैंकिंग और प्रत्यायन, समान और समावेशी शिक्षा, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए शिक्षकों की क्षमता निर्माण जैसे विषयों पर चर्चा होगी। मंत्रालय के बयान के अनुसार, अखिल भारतीय शिक्षा समागम में उच्च शिक्षा पर वाराणसी घोषणा को लागू किया जायेगा, जो उच्च शिक्षा प्रणाली के लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करने के लिए भारत की विस्तारित दृष्टि और नए सिरे से उसकी प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करेगा।