मौके से फरार फर्जी पत्रकार बादल की तलाश लगातार जारी…

लव ट्राएंगल में हुई अनिभा कि हत्या, 36 घंटे बाद भी नहीं मिला हत्यारा

शनिवार की शाम नर्मदा पुल के पास मिली अनिभा की लाश और मौके से फरार फर्जी पत्रकार बादल की तलाश लगातार पुलिस कर रही है। अभी तक कि जांच में पुलिस ने पाया है कि मृतका अनिभा की हत्या के पीछे लव ट्राएंगल है। फर्जी पत्रकार बादल पटेल और रामपुर निवासी अनिभा के बीच प्रेम संबंध थे। कुछ माह पहले फर्जी पत्रकारों के गिरोह में शामिल एक मामले में बादल जेल चला गया। बादल के जेल जाने के बाद अनिभा कि दोस्ती आई.टी पार्क में स्थित एक कंपनी में काम करने वाले मैनेजर से हो गई। जेल से बाहर आने के बाद बादल को इसकी जानकारी लगी तो वह आगबबूला हो गया और उसने मैनेजर के साथ मारपीट की। कुछ दिनों बाद कंपनी ने मैनेजर का तबादला भोपाल कर दिया। बावजूद, इसके दोनों संपर्क में थे। बादल को मैनेजर और मृतका की दोस्ती बर्दाश्त नहीं हुई, इस वजह से अनिभा को जान गंवानी पड़ी। 

मौके पर खड़ी कार और पास में मिली चप्पल से पुलिस अंदेशा जता रही है कि अनिभा की हत्या करने के बाद वह नर्मदा पुल से कूद गया है। हालांकि, गोताखोर लगातार उसकी तलाश कर रहे हैं, पर पुलिस को सफलता नहीं मिली। भोपाल में रह रहे मृतका के दोस्त से भी बरेला पुलिस संपर्क कर रही है। जल्द ही उसे पूछताछ के लिए जबलपुर बुलाया जाएगा। इसके अलावा पुलिस बादल और अनिभा की कॉल डिटेल भी निकाल रही है। बादल का विवाह वर्ष 2014 में हो गया था। मृतका का दूसरा साथी, जो कि मैनेजर है, भी शादीशुदा निकला। बादल अपने माता-पिता की इकलौती संतान है। 2 माह पूर्व उसकी मां की मौत हो गई। बादल भी फर्जी पत्रकारों की गैंग में शामिल होकर अड़ीबाजी और ब्लैकमेलिंग करने लगा था। इसके चलते उसे जेल भी जाना पड़ा। 

जेल से छूटने के बाद बादल की मनोदशा और भी खराब हो गई थी। बरेला थाना के मंगेली ग्राम स्थित नर्मदा पुल के ऊपर सफेद कलर की कार एमपी 20 सी.जे 9414 खड़ी थी। कार में ब्लैक फिल्म लगी हुई थी। गौर चौकी पुलिस जब पेट्रोलिंग कर रही थी, तब उन्हें यह संदिग्ध कार खड़ी मिली। पुलिस की नजर कार की छत पर बज रहे मोबाइल पर पड़ी। नजदीक जाकर पुलिस ने देखा की कार में एक युवती मृत अवस्था में पड़ी हुई है। पास में ही एक चैनल की आईडी और पिस्टल भी पड़ी हुई थी। मोबाइल से संपर्क कर पुलिस ने बादल व मृतका के परिवारवालों को घटना की जानकारी दी। जिस जगह कार खड़ी हुई थी, वहां रहने वाले स्थानीय लोगों से पुलिस ने पूछताछ की तो बताया गया कि एक युवक को पुल से कूदते हुए देखा गया है। संदेह के आधार पर गोताखोरों की मदद से पुलिस बादल की तलाश कर रही है। 

माना जा रहा है कि अनिभा को गोली मारने के बाद बादल भी नर्मदा में कूद गया है। रविवार को अनिभा का पोस्टमार्टम होने के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया। पुलिस के मुताबिक अनिभा के सीने में गोली मारी गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पुष्टि हुई है कि उसे एक गोली लगी है। फॉरेंसिक टीम पीएम के दौरान निकाली गई गोली को भी जांच कर रही है। रामपुर निवासी अनिभा केवट की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। शनिवार शाम मंगेली गांव के पास नर्मदा पुल पर खड़ी कार में उसका रक्तरंजित शव पाया गया था। कार रांझी बजरंग नगर निवासी विजय कुमार लाल की थी, जिसे इंदिरा नगर निवासी बादल पटेल शनिवार की सुबह मांग कर ले गया था। दोपहर में वह आईटी पार्क पहुंचा जहां अनिभा को लेकर वह कार से रवाना हुआ। शाम को पुल पर खड़ी कार की पिछली सीट पर अनिभा का शव मिला।