बारिश का कहर…

देश के 25 राज्यों में बारिश से अब तक 218 मौतें

महाराष्ट्र, गुजरात, छत्तीसगढ़, राजस्थान, मध्य प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और केरल समेत देश के 25 राज्यों में बारिश हो रही है। गुजरात में पिछले 24 घंटों में बारिश से जुड़ी घटनाओं में 14 लोगों की जान चली गई। महाराष्ट्र में अब तक 84 लोग मारे गए हैं। इस तरह बाढ़ और भूस्खलन जैसे हादसों में अब तक 218 लोगों की जान जा चुकी है। तेलंगाना में बुधवार को रिकॉर्ड 68.2 मिमी बारिश दर्ज हुई। छत्तीसगढ़ में 35.8 मिमी और महाराष्ट्र में 43 मिमी बारिश हुई। देश में अब तक औसत से 11% अधिक बारिश हो चुकी है।

महाराष्ट्र - भारी बारिश की वजह से गुरुवार को ठाणे, पालघर और नवी मुंबई के सभी स्कूल बंद रखे गए हैं। उधर, मुंबई यूनिवर्सिटी ने गुरुवार को होने वाले परीक्षाएं रद्द कर दी हैं। इनकी नई तारीखों का ऐलान बाद में होगा। हालांकि, मुंबई में आज स्कूल बंद नहीं किए गए हैं। पूरे महाराष्ट्र में बुधवार को औसतन 43 मिमी बारिश हुई। गोंदिया में 15 श्रद्धालु उफनती वैनगंगा नदी के बीच स्थित एक मंदिर में फंस गए थे। उन्हें गुरुवार सुबह निकाल लिया गया। ये लोग गुरु पूर्णिमा पर पूजा करने पहुंचे थे। SDRF की टीम रेस्क्यू के लिए पहुंची थी। उधर,पालघर के वसई में भूस्खलन से पिता और उसकी बेटी की मौत हो गई। महाराष्ट्र के मुंबई, कोंकण रीजन में अगले 24 घंटे में भारी बारिश का अलर्ट है। मौसम विभाग का कहना है कि मुंबई में इस दौरान रुक-रुककर बारिश होगी। वहीं, उपनगरों में भारी से बहुत भारी बारिश का अनुमान है। इस दौरान 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।

गुजरात - मौसम विभाग ने बताया कि गुजरात में पांच जिले वलसाड, नवसारी, डांग, जूनागढ़, गिरि और सोमनाथ हाई अलर्ट पर हैं। पूरे राज्य में अब तक 31 हजार लोगों सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है। राज्य में बारिश से जुड़ी घटनाओं में 14 लोगों की मौत हुई है। इनमें से नौ लोगों की मौत डूबने के कारण हुई। इस तरह अब तक 83 लोगों की जान जा चुकी है। बुधवार को सुबह छह बजे से 10 बजे के बीच चार घंटे में जूनागढ़, गिर सोमनाथ, डांग और अमरेली में 47 मिमी से 88 मिमी के बीच बारिश हुई। वलसाड और आसपास के इलाकों में भारी बारिश से ओरंगा नदी खतरे के निशान के ऊपर बह रही है। मौसम विभाग ने दक्षिण गुजरात और सौराष्ट्र के जिलों के लिए भारी बारिश का अनुमान जताया है और रेड अलर्ट जारी किया है।

मध्यप्रदेश - राज्य के ज्यादातर इलाकों में बुधवार को बारिश हुई। मौसम केंद्र के आंकड़ों के मुताबिक, भोपाल में अब तक 22.82 इंच बारिश हो चुकी है। यह अब तक की सामान्य बारिश से 11.26 इंच ज्यादा है। इंदौर में बीते चौबीस घंटे में करीब 3 इंच बारिश रिकॉर्ड की गई। बैतूल और हरदा जिले में मंगलवार शाम से हुई जोरदार बारिश से नदी-नाले उफान पर हैं। ऐसा ही हाल नर्मदापुरम का है। यहां नर्मदा नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है।

अगले 24 घंटे: भोपाल-उज्जैन संभाग, इंदौर समेत मालवा, निमाड़, महाकौशल और बुंदेलखंड के 16 जिलों में तेज बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा नर्मदापुरम संभाग, खंडवा, बुरहानपुर के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है। यानी, इन इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है।

देश के अन्य राज्यों का हाल -

  • कश्मीर के राजौरी जिले में बाढ़ से एक फुट ब्रिज को नुकसान पहुंचा। अब लोगों को पैदल नदी पार करनी पड़ रही है।
  • तेलंगाना सरकार ने भारी बारिश को देखते हुए स्कूल, कॉलेजों की छुट्टियां 16 जुलाई तक बढ़ा दी हैं। इससे पहले 11 से 13 जुलाई तक छुट्टी की गई थी। 
  • उत्तराखंड के टिहरी जिले में उफनती गंगा नदी में चार लोग बह गए। कोटद्वार में नदी नाले उफान पर, रामनगर में बरसाती नाले में शिक्षकों की कार बही। स्थानीय लोगों ने 4 शिक्षकों को बचाया। 
  • कर्नाटक में गुरुवार को 6 जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।