भारत रत्न अब्दुल कलाम की पुण्यतिथि पर उनको समर्पित

शिक्षित संस्कारी मिसाइल मैन हमारे…

शिक्षित संस्कारी मिसाइल मैन हमारे

जन-जन को अब्दुल कलाम थे प्यारे


जिसके कानों में ध्वनि गूंजती थी

भगवत गीता के संस्कृत श्लोकों की

डार्विन के जिन्होंने थे सिद्धांत पढ़ डालें, 

ऐसे वैज्ञानिक दृष्टिकोण वाले भारत रत्न

अब्दुल जी का सदैव मान सम्मान रहे ।।


उनके ही विचार गूंज रहे हैं

पूरे विश्व और हिंदुस्तान में

सफलता के हर शिखर पर 

कर्ता कर्म कर रहा अपना

कार्य स्वयं सिद्ध है सफल।।


तुम जैसे प्रिय भारत रत्न की

मिसाइल मैन के नाम से प्रसिद्ध

कीर्ति तुम्हारी यश्श्वमान रहें

हिंदुस्तान के लाडले प्रिय,

अब्दुल कलाम जी को सलाम है।।


अपनी असफलताओं को बनाकर 

अपनी सफलताओं का माध्यम,

देशभक्ति की मशाल लिए नित नए प्रयास किए निरंतर

ऐसे भारत रत्नों से ही हमारा भारत महान है ।।


प्रतिभा दुबे

(स्वतंत्र लेखिका)