राजनैतिक दलों एवं प्रत्याशियों के प्रतिनिधियों को समझाई मतगणना की प्रक्रिया…

पूरी पारदर्शिता एवं निष्पक्षता के साथ होगी मतगणना : श्री सिंह

ग्वालियर। राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए पूरी पारदर्शिता व निष्पक्षता के साथ मतगणना की जायेगी। सभी प्रत्याशी एवं राजनैतिक दल सुव्यवस्थित ढंग से मतगणना सम्पन्न कराने में सहयोगी बनें। यह बात कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी (स्थानीय निर्वाचन) कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने स्टेंडिंग कमेटी की बैठक में राजनैतिक दलों एवं नगर निगम में महापौर एवं पार्षद का चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों के प्रतिनिधियों से कही। ज्ञात हो राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित कार्यक्रम के तहत नगर निगम सहित जिले के सभी नगरीय निकायों में मतों की गिनती 17 जुलाई को प्रात: 9 बजे शुरू होगी। 

नगर निगम ग्वालियर की मतगणना शासकीय आदर्श विज्ञान महाविद्यालय में की जायेगी। बुधवार को यहाँ कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई स्टेंडिंग कमेटी की बैठक में मतगणना प्रभारी एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आशीष तिवारी, स्मार्ट सिटी की सीईओ नीतू माथुर, अपर जिला दण्डाधिकारी इच्छित गढ़पाले व एच बी शर्मा, उप जिला निर्वाचन अधिकारी (स्थानीय निर्वाचन) विनोद भार्गव, सभी एआरओ एवं चन्द्रप्रकाश गुप्ता, आनंद शर्मा, चैनसिंह राजपूत, रामविलास गोस्वामी, सुल्तान सिंह व सतेन्द्र धाकड़ सहित मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के अन्य प्रतिनिधिगण तथा संबंधित अधिकारी मौजूद थे। 

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कहा कि सभी राजनैतिक दल एवं प्रत्याशी अपने-अपने गणना अभिकर्ताओं (एजेण्ट) को भी साफ तौर पर ताकीद कर दें कि गणना कक्ष में अपने निर्धारित स्थान पर ही बैठें और आयोग के दिशा-निर्देशों का पालन करें। प्रत्येक गणना टेबल पर महापौर व पार्षद पद के हर प्रत्याशी को केवल एक – एक गणना अभिकर्ता रखने की अनुमति रहेगी। जो गणना अभिकर्ता अपनी टेबल की बजाय कहीं और घूमते पाए गए तो उन्हें मतगणना केन्द्र से बाहर कर दिया जायेगा। 

उन्होंने जानकारी दी कि हर गणना टेबल पर मतों की गिनती के बाद परिणाम के हस्ताक्षरयुक्त गणना पत्र दिए जायेंगे। मतगणना के समय यदि कोई आपत्ति होगी तो उसका निराकरण संबंधित सहायक रिटर्निंग अधिकारी द्वारा तत्समय किया जायेगा। स्टेंडिंग कमेटी की बैठक में मतगणना की प्रक्रिया विस्तारपूर्वक समझाई गई और राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों की भी जानकारी दी गई। साथ ही सभी की शंकाओं का समाधान भी किया गया। हर गणना टेबल पर एक गणना पर्यवेक्षक व दो गणना सहायक तैनात रहेंगे। इस प्रकार एक टेबल पर तीन अधिकारी मतों की गिनती के लिए तैनात किए जायेंगे। 

ग्वालियर नगर पालिक निगम में डाले गए मतों की गिनती यहाँ शासकीय आदर्श विज्ञान महाविद्यालय में होगी। गणना के लिए 6 कक्ष निर्धारित किए गए हैं। हर कक्ष में 11 – 11 टेबल लगाई जायेंगी। इस प्रकार हर वार्ड के लिए एक टेबल निर्धारित की गई है। बैठक में जानकारी दी गई कि राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों अनुसार 17 जुलाई को प्रात: 9 बजे पहले निर्वाचन कर्तव्य मत पत्रों की गिनती शुरू होगी। इसके आधा घंटे बाद ईवीएम (इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन) के वोटों की गिनती शुरू होगी। दोनों प्रकार के मतों की गिनती समानान्तर रूप से जारी रह सकेगी। नगर निगम के वार्ड क्रमांक – 3 में निर्वाचन कर्तव्य मत पत्रों की संख्या अधिक होने से एक अतिरिक्त टेबल लगाई जायेगी। 

हर प्रत्याशी को इस टेबल पर एक अतिरिक्त गणना एजेंट तैनात करने की अनुमति रहेगी। निर्वाचन कर्तव्य मत पत्रों की गिनती पूरी होते ही इन गणना एजेंटों को मतगणना कक्ष से बाहर जाना होगा। मतगणना परिसर में मोबाइल फोन, बीड़ी, सिगरेट, माचिस, तम्बाकू व खाद्य पदार्थ प्रतिबंधित रहेंगे। प्रवेश द्वारों पर व्यक्तिश: इसकी सघन जाँच की जायेगी। जिला निर्वाचन अधिकारी कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से कहा कि अपने गणना अभिकर्ताओं को भी बता दें कि वे गणना के दिन उक्त सामग्री लेकर न आएं।