राज्य निर्वाचन आयोग ने तगड़े सुरक्षा प्रबंध करने के दिए हैं निर्देश...

प्रदेश के अति संवेदनशील नक्सल इलाकों में चुनाव कराने की चुनौती, 6 जून को समीक्षा करेगा गृह विभाग

भोपाल। अति संवेदनशील नक्सल इलाकों में पंचायत चुनाव शांतिपूर्ण कराने की चुनौती सरकार के सामने है। बालाघाट, मंडला और डिंडोरी क्षेत्र में पिछले कुछ समय में नक्सली घटनाएं सामने आई है। इसी तरह ग्वालियर, चंबल और बुंदेलखंड क्षेत्र में भी पिछले चुनाव में हिंसक घटनाएं हो चुकी हैं। इसे देखते हुए राज्य निर्वाचन आयोग ने अति संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा के तगड़े प्रबंध करने के निर्देश दिए हैं। वहीं, गृह विभाग ने चुनावों में सुरक्षा प्रबंध को लेकर छह जून को बैठक बुलाई है।

तब तक सभी जिलों में संवेदनशील और अति संवेदनशील इलाकों की पहचान करके कार्ययोजना बनाकर पुलिस मुख्यालय को भेजी जाएगी। पिछले महीनों में बालाघाट, मंडला और डिंडोरी में नक्सल गतिविधियां सामने आई हैं। पिछले चुनाव में भी कुछ पंचायतों में कानून व्यवस्था को लेकर समस्या आई थी। इन क्षेत्रों में शांतिपूर्ण चुनाव कराने किसी चुनौती से कम नहीं है। यह बात राज्य निर्वाचन आयोग और गृह विभाग भी जानता है, इसलिए अति संवेदनशील इलाकों को चिन्हित करके सशस्त्र बल तैनात करने की तैयारी है।