बुद्ध पूर्णिमा के विशेष अवसर पर…

भगवान बुद्ध की जन्मस्थली लुंबिनी पहुंचे PM मोदी

लुम्बिनी। पीएम नरेंद्र मोदी नेपाल पहुंच चुके हैं। जहां उन्होंने नेपाली पीएम शेर बहादुर देउबा के साथ मुलाकात कर महामाया मंदिर में पूजा अर्चना की। पीएम मोदी ने अपने ट्विटर अकांउट पर लिखा, " बुद्ध पूर्णिमा के विशेष अवसर पर नेपाल में आगमन, इस मौके पर यहां के अद्भुत लोगों के बीच आकर खुश हूं और लुम्बिनी में कार्यक्रमों की प्रतीक्षा कर रहा हूं।" अपने समकक्ष देउबा के निमंत्रण पर पीएम मोदी बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर लुम्बिनी का एक दिवसीय दौरा कर रहे हैं। साल 2014 के बाद से यह प्रधान मंत्री की पांचवीं नेपाल यात्रा है। पीएम मोदी और उनका दल उत्तर प्रदेश के कुशीनगर से एक विशेष भारतीय वायु सेना के हेलीकॉप्टर से यहां पहुंचे। दक्षिणी नेपाल के तराई मैदानों में स्थित लुम्बिनी बौद्ध धर्म के सबसे पवित्र स्थानों में से एक है, क्योंकि वहां भगवान बुद्ध का जन्म हुआ था।

इस यात्रा पर आए प्रधानमंत्री लुम्बिनी मठ क्षेत्र के भीतर बौद्ध संस्कृति और विरासत के लिए एक केंद्र के निर्माण के लिए शिलान्यास समारोह में भी भाग लेंगे। नेपाल के विदेश मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, "बैठक के दौरान, वे नेपाल-भारत सहयोग और आपसी हितों के मामलों पर विचारों का आदान-प्रदान करेंगे।" रविवार को एक बयान में, पीएम मोदी ने कहा कि वह पिछले महीने अपनी भारत यात्रा के दौरान "उत्पादक" चर्चा के बाद नेपाली प्रधान मंत्री देउबा से फिर से मिलने के लिए उत्सुक थे। इस यात्रा के दौरान पीएम मोदी ने अपने नेपाली समकक्ष शेर बहादुर देउबा से जल विद्युत, विकास और संपर्क सहित विभिन्न क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग को बढ़ावा के मुद्दे पर विस्तृत चर्चा की। पीएम बुद्ध जयंती पर जनसभा को भी संबोधित करेंगे। इसका आयोजन लुम्बिनी विकास ट्रस्टा ने नेपाल सरकार के सहयोग से किया है। 

अंतरराष्ट्री य बौद्ध संस्कृाति और विरासत केन्द्र  का निर्माण वैश्विक अपील पर भारत स्थित अंतरराष्ट्रीकय बौद्ध परिसंघ द्वारा लुम्बिनी विकास ट्रस्ट‍ के सहयोग से किया जा रहा है। इसके लिए भारत सरकार का संस्कृमति मंत्रालय वित्तीसय सहयोग उपलब्धट कराएगा। अंतरराष्ट्री य बौद्ध परिसंघ संस्कृ ति मंत्रालय के तहत एक अनुदान प्राप्तत निकाय है। यह बौद्ध केन्द्र  नेपाल में पहला शून्यत कार्बन उत्स्र्जन भवन होगा। नेपाल के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, “बैठक के दौरान दोनों नेता नेपाल-भारत सहयोग और आपसी हितों के मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान करेंगे।” बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर लुम्बिनी में विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होने के बाद प्रधानमंत्री मोदी शाम चार बजे कुशीनगर लौट आएंगे। पीएम महापरिनिर्वाण स्तूप जाएंगे तथा दर्शन और पूजा करेंगे।