CM की अध्यक्षता में हुई मंत्रि-परिषद की बैठक का अहम फ़ैसला…

MP में संस्कृत पढ़ने वाले छात्रों को जुलाई से मिलेगा स्कॉलरशिप


भोपाल। मध्य प्रदेश में संस्कृत पढ़ने वाले छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार जुलाई माह से छात्रवृत्ति देना प्रारंभ कर देगी। यह निर्णय बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई। मंत्रि-परिषद की बैठक में इस फैसले को लिया गया। मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने कहा कि संस्कृत पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए प्रोत्साहन स्वरूप छात्रवृत्ति की व्यवस्था की जा रही है। यह सुनिश्चित किया जाए कि विद्यार्थियों को जुलाई माह से छात्रवृत्ति मिलना आरंभ हो जाए। 

छात्रवृत्ति का संचालन पोर्टल से होगा। मंत्रि-परिषद की बैठक में सीएम ने त्योहार के शांतिपूर्ण तरीके के बीत जाने पर सभी को बधाई दी। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि अक्षय तृतीया, परशुराम जयंती और ईद का त्योहार प्रदेश में शांतिपूर्ण तरीके से मनाया गया। सौहार्दपूर्ण वातावरण में पूर्ण उत्साह और उल्लास के साथ त्योहार संपन्न होने पर सभी को शुभकामनाएं दी। 

संस्कृत पढ़ने वाले छात्रों को छात्रवृत्ति पर मुख्यमंत्री ने कहा कि संस्कृत शिक्षकों के पदों पर भर्ती से, युवा संस्कृत भाषा के प्रति आकर्षित होंगे। संस्कृत शिक्षण को कॅरियर के रूप में अपनाने के लिए भी प्रेरित होंगे। परशुराम चरित्र और गीता सार को शिक्षा पाठ्यक्रम में शामिल करने के लिए पाठ्यक्रम समिति की बैठक करने के निर्देश भी सीएम शिवराज ने अधिकारियों को दिए। उन्होंने आगे कहा कि सामान्य वर्ग के गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे लोगों को शासन की संबल सहित सभी योजनाओं का लाभ दिया जाएगा।