जांच में जुटी पुलिस…

शिक्षक का अपहरण कर मांगी 20 लाख की फिरौती

ग्वालियर। ग्वालियर के पड़ाव थाना क्षेत्र में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर से शनिवार को एक शिक्षक को अगवा कर लिया गया, जिसके बाद शिक्षक के बेटे के पास बदमाशों का 20 लाख रुपए की फिरौती का पत्र पहुंचा है। इस पत्र में बदमाशों ने शहर के ही झांसी रोड थाना क्षेत्र के एक स्थान पर रात 10 बजे तक पैसे रखने की बात लिखी, फिलहाल पत्र मिलने के बाद से शिक्षक का परिवार दहशत में है। परिजनों ने शनिवार को वरिष्ठ पुलिस अफसरों से मुलाकात कर, जल्द से जल्द शिक्षक की रिहाई की मांग की।

ग्वालियर की डबरा तहसील के ठाकुर बाबा रोड पर रहने वाले शासकीय शिक्षक हरिशरण श्रीवास्तव जो कि प्राथमिक विद्यालय रामपुर में पदस्थ हैं, शुक्रवार को ग्वालियर आए थे जहां उन्होंने पडाव रेलवे ओवर ब्रिज के नीचे स्थित मंशापूर्ण हनुमान मंदिर पर दर्शन किए। इसके बाद उन्हें जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय सिरोल रोड भी जाना था, लेकिन वे वहां नहीं पहुंचे। जब शाम को वह अपने डबरा स्थित घर नहीं पहुंचे तो घर वालों को उनकी चिंता हुई, इसके बाद उनके बेटे प्रदीप श्रीवास्तव के पास 20 लाख रुपए की फिरौती का पत्र आया। इसके बाद प्रदीप और घर के अन्य लोग सक्रिय हो गए, उन्होंने तुरंत पुलिस को इसकी जानकारी दी। डबरा पुलिस ने घटना ग्वालियर में होने के कारण पड़ाव थाने में रिपोर्ट करने के लिए परिजनों को भेज दिया, परिजन पूरे दिन पुलिस थाने के चक्कर लगाते रहे जिसके बाद भी कोई नतीजा नहीं निकला। 

परिजनों का आरोप है कि शुक्रवार को ही यदि पुलिस सक्रियता दिखाती तो शिक्षक का पता चल सकता था। पूरे मामले में अहम बात यह है कि शिक्षक का मोबाइल अभी भी चालू है, जिसकी लोकेशन ग्वालियर झांसी रोड क्षेत्र में बताई जा रही है। पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने दो टीमों को इस मामले में लगा दिया है, एक टीम शहर के आने-जाने के स्थान पर लगे सीसीटीवी कैमरों में दर्ज हुई तस्वीरों को खंगाल रही है तो वहीं दूसरी टीम शिक्षक के मोबाइल की लोकेशन के आधार पर शिक्षक को खोजने की कोशिश कर रही है। 

जल्द ही इस मामले में सार्थक नतीजे सामने आएंगे, पुलिस के हाथ कुछ सुराग लगे हैं जिसमें सीसीटीवी फुटेज की भी कुछ तस्वीर शिक्षक से जुड़ी हुई बताई गई हैं - राजेश दंडोतिया, एडीशनल एसपी