शिकायत लेकर आई छात्रा के साथ विधायक स्वयं पुस्तकालय पहुंचे…

सेंट्रल लाइब्रेरी के बढ़े शुल्क की वापसी के लिए विधायक ने कलेक्टर को लिखा पत्र


ग्वालियर  दक्षिण से कांग्रेस पार्टी के विधायक प्रवीण पाठक ने ग्वालियर कलेक्टर को पत्र लिखकर मांग की है कि महाराज बाड़ा स्थित केंद्रीय पुस्तकालय में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हेतु आने वाले छात्र-छात्राओं से लिए जाने वाला मासिक शुल्क कम किया जाना चाहिए। आज प्रतिदिन की भांति विधायक श्री पाठक अपने निवास पर सुबह आमजन से मुलाकात कर रहे थे उसी समय दाना ओली निवासी एक छात्रा आरती राठौर ने आकर विधायक श्री पाठक से अपनी व्यथा सुनाते हुए कहा कि केंद्रीय पुस्तकालय में हम लोग प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हेतु नियमित रूप से जाते हैं वहां पर पूर्व में ₹200 प्रति वर्ष शुल्क लिया जाता था जो आज प्रशासन ने बढ़ा कर  ₹7200 प्रति वर्ष कर दिया है। 

विधायक श्री पाठक ने जब यह बात सुनी तो वे छात्रा आरती राठौर के साथ स्वयं महाराज बाड़ा स्थित केंद्रीय पुस्तकालय पहुंचे और हकीकत से रूबरू हुए । उसके बाद विधायक श्री पाठक ने मौके से ही कलेक्टर ग्वालियर से फोन पर बात की और यहां लिया जाने वाला शुल्क कम करने के लिए कहा इस पर कलेक्टर  ने भी आश्वस्त किया है कि शीघ्र ही इस पर उचित निर्णय लिया जाएगा। विधायक श्री पाठक ने केंद्रीय पुस्तकालय पहुंचकर वहां पर अध्ययन कर रहे छात्र-छात्राओं से  उनकी समस्याओं के संबंध में बात की और समस्याओं को शीघ्र समाधान करने का आश्वासन भी दिया। ग्वालियर दक्षिण के लोकप्रिय विधायक प्रवीण पाठक ने कलेक्टर ग्वालियर को पत्र लिखकर भी यह कहा है कि महाराज बाडा स्थित केंद्रीय पुस्तकालय में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हेतु आने वाले छात्र-छात्राओं से लिए जाने वाले मासिक शुल्क में अत्यधिक वृद्धि कर दी गई है । यह शुल्क पूर्व में जहां ₹200 प्रतिवर्ष था वहीं अब ₹7200 प्रति वर्ष कर दिया गया है , जो कि अनुचित ही नहीं बल्कि प्रजातंत्र की मान्यताओं के भी खिलाफ है। 

विधायक श्री पाठक ने पत्र में आगे लिखा है कि चूंकि शासन का प्रत्येक कार्य धन कमाने के लिए नहीं किया जाता बल्कि जनता को अधिकतम लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से भी किया जाता है। ग्वालियर जिले के इस प्रतिष्ठित पुस्तकालय में अधिकांश बच्चे निम्न एवं मध्यम वर्गीय परिवार के ही आते हैं जिनके लिए इतना अधिक शुल्क दिया जाना कष्ट कारक है और शुल्क में इतनी अधिक बढ़ोतरी करना जन हितेषी भी नहीं है। विधायक श्री पाठक ने आगे लिखा है कि जन भावनाओं को ध्यान में रखकर एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के बच्चों को अधिक से अधिक इस पुस्तकालय का लाभ मिल सके इसके लिए मासिक शुल्क तत्काल प्रभाव से कम किया जाना चाहिए।