हाथ-पैर की कई हडि्डयां तोड़ीं…

ग्वालियर में दलित RTI एक्टिविस्ट को सरपंच ने पिटवाया

 

ग्वालियर के पनिहार में एक दलित RTI एक्टिविस्ट को महिला सरपंच ने अपने पति, बेटों समर्थकों से पिटवाया है। सरपंच पति बेटों ने RTI एक्टिविस्ट को लाठियों, बंदूक के बट से पीट-पीटकर हाथ पैर तोड़ दिए। इतना ही नहीं उसे जाति सूचक गालियां देते हुए सभी ने उसके मुंह में पेशाब कर दी। जब RTI एक्टिविस्ट की पत्नी उसे बचाने आई तो उसके साथ भी हाथ पकड़कर अभद्रता की है। यह घटना 23 फरवरी सुबह 10.30 से 11 बजे के बीच बरई पंचायत भवन की है। पुलिस ने घायल की पत्नी की शिकायत पर मारपीट, छेड़छाड़ घेरकर मारपीट करने जान से मारने की धमकी देने का मामला प्राथमिक तौर पर दर्ज किया था। पर इस मामले ने तूल पकड़ लिया है। दिल्ली तक मामले की शिकायत की भीम आर्मी के माध्यम से की गई है।

जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में हत्या के प्रयास की धारा 307 और जोड़ दी है। पुलिस ने अभी तक सिर्फ दो लोगों की ही गिरफ्तारी की है। सरपंच, सरपंच पति, उसके बेटे अभी तक नहीं पकड़े गए हैं। बरई निवासी शशिकांत चौकोटिया के साथ मारपीट हुई है। शशिकांत की पत्नी रेणू ने पुलिस को बताया कि पति शशिकांत ने RTI लगाकर सरंपच आशा कौरव द्वारा अपने कार्यकाल के दौरान किए गए कार्यो की जानकारी मांगी थी। इस पर सरंपच खफा थी। 23 फरवरी सुबह 10.30 से 11 बजे की बात है। पति ने मुझे मेरी स्कूटी लेने के लिए पंचायत भवन बुलाया था। कुछ देर बाद मैं वहां पहुंच गई। देखा तो पंचायत भवन से चिल्लाने की आवाज रही थी। वहां मौजूद कुछ लोगों से पूछा कि किसके चिल्लाने की आवाज है।

इस पर मुझे बताया कि सरपंच आशा सरनाम कौरव के लोग तुम्हारे पति को पीट रहे है। मैं तुरंत ही दरवाज खोलकर अंदर पहुंची तो देखा कि सरंपच और उसके दोनों बेटे, अन्य कुछ लोग मेरे पति को लाठी डंडे और बंदूक से पीट रहे थे। मारपीट में उनके दोनों हाथ-पैर टूट गए। मैंने बचाने का प्रयास किया तो हमलावरों ने मेरा हाथ पकड़ लिया और मुझे भी पीटा। इस मामले में थाना प्रभारी पनिहार प्रवीण शर्मा का कहना है कि इस मामले में मेडीकल के बाद हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया गया है। अभी दो लोगों को गिरफ्तार कर चुके है, बाकी आरोपियो ंको गिरफ्तार करने के लिए दबिश दी जा रही है। घायल RTI एक्टिविस्ट की पत्नी ने बताया कि मारपीट करने के बाद हमलावरों ने मिलकर मेरे पति के मुंह में पेशाब कर दी। मैं चिल्लायी तो यह लोग भागे और धमकाते हुए गए कि अगर दोबारा RTI लगाई तो जान से मार देेंगे। हमलावरों में सरपंच पति सरनाम कौरव, सरपंच आशा कौरव सहित 7 लोगों पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है।

पुलिस ने अभी तक हमलावर भूरा कौरव और गौतम कमरिया को गिरफ्तार कर लिया है। शशिकांत की पत्नी रेणू की शिकायत पर पुलिस ने सरपंच आशा कौरव, सरपंच पति सरनाम कौरव, धम्मो कौरव, भूरा कौरव, गौतम कमरिया, संजय कौरव, विवेक शर्मा के खिलाफ धारा 354, 342, 147, 148, 323, 294, 506 अनुसुचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति नृशंसता निवारण अधिनियम सहित 307 हत्या के प्रयास के तहत मामला दर्ज किया। RTI कार्यकर्ता के साथ हुई मारपीट का मामला दिल्ली तक पहुंचा है। बताया जाता है कि इस मामले को भीम आर्मी द्वारा भी जोर शोर से उठाया जा रहा है। उन्होंने भी इस मामले को लेकर पुलिस के आला अधिकारियों से बातचीत की है। यही नहीं एसएसपी को आरटीआई कार्यकर्ता सहित कई लोग ज्ञापन देने भी गए थे।