ईओडब्लू ने कॉलेज संचालक के घर सहित चार ठिकानों मारा छापा…

MP में ईओडब्ल्यू की ज़बरदस्त कार्रवाई, धनकुबेर निकले सरकारी नौकर

भोपाल। आर्थिक अपराध अन्वेषण प्रकोष्ठ (ईओडब्ल्यू) ने ग्वालियर और सतना में बड़ी कार्रवाई की है तो लोकायुक्त पुलिस ने रीवा में नायब तहसीलदार को रिश्वत लेते पकड़ा है। ईओडब्ल्यू कार्रवाई में ग्वालियर का सहायक शिक्षक जिसकी तनख्वाह 16 साल में 20 लाख होती है, उसकी अब तक अचल संपत्ति ही सवा दो करोड़ की निकल चुकी है। उसके पास दर्जनभर कॉलेज, दो मैरिज गार्डन भी मिले हैं। वहीं, सतना में पंचायत सचिव के अब तक की सरकारी नौकरी से 24 लाख की आय बनती है लेकिन अब तक की कार्रवाई में करोड़ों रूपए की संपत्ति निकल चुकी है। इनके घर से नोटों की गड्ढियां निकली।

बताया जाता है कि ग्वालियर में ईओडब्ल्यू की टीम ने आज सुबह सहायक शिक्षक प्रशांत सिंह परमार के चार ठिकानों पर कार्रवाई की है। वह 2006 में सहायक शिक्षक के रूप में भर्ती हुआ था। अभी परमार महाराजपुरा में प्रायमरी शिक्षक है जिसकी शासकीय सेवा से अब तक की कुल आय करीब 20 लाख बताई जाती है। मगर अब तक ईओडब्ल्यू की कार्रवाई में स्थायी संपत्ति करीब सवा दो करोड़ रुपए की मिल चुकी है जिसमें सत्यम रेसीडेंसी में तीन फ्लेट मिले हैं, जहां वह रहता भी है। उसने अपना कारपोरेट ऑफिस भी बना रखा है जो सत्यम बिल्डिंग में है। 

परमार के तीन बीएड कॉलेज, एक नर्सिंग कॉलेज तथा अन्य संस्थान भी हैं। कोटेश्वर में ब्राइट पब्लिक हायर सेकंडेरी स्कूल है। नूराबाद में भी एक कॉलेज के दस्तावेज मिले हैं। परमार के यहां प्रखर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, प्रशी नर्सिंग कॉलेज एंड हॉस्पिटल, ब्राइट नर्सिंग कॉलेज और परमार इंस्टीट्यूट ऑफ परोग्रेससीयोनल नाम के संस्थानों का रिकॉर्ड अभी तक की कार्रवाई में मिल चुका है। उसकी कॉलेजों की चैन बताई जाती है जिसके रिकॉर्ड खंगाले जा रहे हैं। यही नहीं सहायक शिक्षक के कोटेश्वर इलाके में दो मैरिज गार्डन परमार पैलेस मैरिज गार्डन और निर्मल वाटिका भी मिले हैं। कई प्रापर्टी उसने अपनी पत्नी, बच्चों के नाम से खरीद रखी हैं। घर से बड़ी मात्रा में आभूषण के अलावा लाखों की नकद राशि भी मिली है। 

सतना जिले के मैहर तहसील अंतर्गत महेदर ग्राम पंचायत सचिव रामानुज त्रिपाठी के घुनवारा गांव में स्थित घर में ईओडब्ल्यू की टीम ने छापा मारा। इसमें ईओडब्ल्यू को करोड़ों की बेनामी संपत्ति के दस्तावेजों के साथ लाखों रुपए की नकदीृ मिली है। घर से चार लाख रूपये से अधिक की नकद राशि के अलावा पांच लाख के सोने और चांदी के जेवरात मिेल हैं। एक चार पहिया वाहन व तीन टू-व्हीलर सहित जमीनों के कागजात, बीमा पॉलिसियां व कई बैंक खातों का रिकॉर्ड ईओडब्ल्यू को मिल चुका है। 

रीवा में लोकायुक्त पुलिस ने एक नायब तहसीलदार भुवनेश्वर सिंह को पांच हजार की रिश्वत लेते हनुमना तहसील में ही गिरफ्तार किया है। नायब तहसीलदार ने एक स्थगन आदेश निरस्त करने के एवज में रिश्वत की मांग की गई थी। इस कार्रवाई से तहसील में हड़कंप मच गया और नायब तहसीलदार को हिरासत में लेने के बाद लोकायुक्त पुलिस की टीम ने उन्हें हनुमना में ही वन विभाग के रेस्ट हाउस में आगे की कार्रवाई की जा रही है।