प्रेमिका व उसके दो बच्चों की निर्मम हत्या कर चल रहा था फरार…

पुलिस ने गिरफ्तार किया धोखाधड़ी का आरोपी निकला ट्रिपल मर्डर का मुख्य आरोपी

ग्वालियर। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ग्वालियर अमित सांघी के निर्देष पर धोखाधड़ी के प्रकरणों में फरार बदमाषो की गिरफ्तारी हेतु ग्वालियर जिले में प्रभावी कार्यवाही की जा रही है। दिनांक 16.03.2022 को एसएसपी ग्वालियर को जरिये मुखबिर सूचना प्राप्त हुई कि वर्ष 2013 में थाना बिलौआ क्षेत्र में 36 लाख रूपये की धोखाधड़ी करने वाले आरोपी को बिलौआ क्षेत्र में देखा गया है। उक्त सूचना पर एसएसपी ग्वालियर द्वारा अति. पुलिस अधीक्षक शहर (पूर्व/अपराध) राजेष डण्डौतिया को क्राईम ब्रांच की टीम बनाकर आरोपी को गिरफ्तार करने हेतु निर्देषित किया गया। अति. पुलिस अधीक्षक शहर (पूर्व/अपराध) द्वारा अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण जयराज कुबेर से समन्वय स्थापित कर क्राईम ब्रांच तथा थाना बिलौआ पुलिस की संयुक्त टीम बनाकर मुखबिर के बताये स्थान पर आरोपी की गिरफ्तारी हेतु भेजा गया। 

वरिष्ठ अधिकारियांे के निर्देषों के परिपालन में डीएसपी अपराध रत्नेष सिंह तोमर तथा नागेन्द्र सिंह सिकरवार एवं एसडीओपी डबरा विवेक शर्मा के मार्गदर्षन में थाना प्रभारी क्राईम ब्रांच तथा थाना प्रभारी बिलौआ के नेतृत्व में पुलिस टीम ने मुखबिर के बताये स्थान आरोपी के बिलौआ स्थित फार्म हाउस की घेराबंदी कर उसे धरदबोचा। पकड़े गये आरोपी से पूछताछ करने पर उसने पुलिस टीम को बताया कि उसने शासकीय चरनौई भूमि को फर्जी तरीके से कूट रचित दस्तावेजों में प्रदर्षित कर फरियादी से 36 लाख रूपये की धोखाधड़ी कर बैच दी थी। जिस पर से फरियादी हरिषंकर षिवहरे निवासी सचिन तेंदूलकर मार्ग ग्वालियर की रिपोर्ट पर से दिनांक 18.06.2013 को पकड़े गये उक्त आरोपी तथा उसके साथियों के खिलाफ थाना बिलौआ में अपराध क्रमांक 96/13 धारा 420,467,468,471,120बी भादवि का पंजीबद्ध किया गया था। 

पकड़े गये उक्त आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उसकी एक प्रेमिका थी जिससे उसके अवैध संबंध थे। सन् 2013 में उसने अपने भाई व अपने जीजा के छोटे भाई के साथ मिलकर अपनी प्रेमिका एवं उसके दो बच्चों की निर्मम हत्या (ट्रिपल मर्डर) मउरानीपुर (झांसी) में कर दी थी। जिसमे उसके दो साथी पूर्व में ही गिरफ्तार हो गये थे तथा मैं घटना दिनांक से ही फरारी काट रहा था। आरोपी से विस्तृत पूछताछ करने पर उसने बताया कि सन् 2011 में उसने ग्वालियर निवासी एक अन्य प्रेेमिका के पति की हत्या बीयर की बाॅटल में नींद की अधिक गोलिया मिलाकर बेतवा नदी के किनारे पर कर दी थी। इसके बाद मेने अपनी प्रेमिका के साथ मिलकर उसके पति का शव बेतवा नदी मंे बहा दिया था, आरोपी द्वारा बताये गये उक्त हत्या की बारदात की तस्दीक की भी जा रही है। 

आरोपी के संबंध में जानकारी एकत्रित करने पर ज्ञात हुआ कि आरोपी वर्ष 2011 से थाना बिलौआ के मारपीट के एक अन्य प्रकरण में भी फरार चल रहा था जिसमें माननीय न्यायालय द्वारा स्थाई वारंट भी जारी किया गया था। आरोपी के विरूद्ध दिनांक 14.03.2022 को आरोपी की पत्नि द्वारा आरोपी एवं उसके साथियों के विरूद्ध मारपीट व जान से मारने की धमकी एवं गाली गलौंच की रिपोर्ट थाना झांसीरोड़ में की है। आरोपी शातिर किस्म का अपराधी है धोखाधड़ी एवं हत्या इसके लिये सामान्य कृत्य है। आरोपी के विरूद्ध एसएसपी झांसी द्वारा पूर्व में ईनाम भी घोषित किया गया है जिसका पता लगया जा रहा है। आरोपी द्वारा घटना दिनांक से फरार होकर इंदौर,भोपाल,दिल्ली,मेरठ आदि जगहों पर फरारी काट रहा था।