हर साल होली की दूज पर पुलिस लाइन में इसी अंदाज में मनाई जाती है होली

ग्वालियर में होली के रंग में झूमी खाकी…

ग्वालियर पुलिस लाइन में शनिवार को उस समय सारे पुलिस अफसर, जवान झूम उठे जब एसएसपी अमित सांघी ने माइक हाथ में उठाकर गाना गाना शुरू कर दिया। जैसे ही एसएसपी ने गाना "रंग बरसे भीगे चुनर वाली रंग बरसे' गाया पुलिस लाइन में अबीर गुलाल उड़ने लगा। एएसपी,डीएसपी, सीएसपी, टीआई व जवान झूमकर नाचने लगे। होलिका दहन से लेकर धुलेंडी तक करीब 48 घंटे के नॉनस्टॉप काम के बाद शनिवार को भाईदूज पर पुलिस कर्मियों ने होली मनाई है। यह तो पुलिस लाइन का हाल है। पूरे शहर के थानों में इसी तरह होली की धूम देखने को मिली है। पर सबसे ज्यादा चर्चा पुलिस कप्तान का गाना बना हुआ है। 

होलिका दहन और धुलेंडी के अगला दिन भाई दूज का रहता है। इस दिन पुलिस जवान व अफसर 48 घंटे की नॉन स्टॉप ड्यूटी के बाद होली देखते हैं। ग्वालियर की पुलिस लाइन में शनिवार दोपहर पुलिस कर्मियों ने होली भी खेली और हुड़दंग भी किया। स्थानीय पुलिस लाइन में पुलिस कर्मियों के होली खेलने के दौरान सभी पुलिसकर्मी व अफसरों ने होली उत्सव में भाग लिया। होली कार्यक्रम में आईजी, एसएसपी से लेकर पुलिस के सभी अधिकारी व कर्मचारी शामिल हुए। खासबात यह रही कि एसएसपी ने स्वयं कार्यक्रम में होली गीत गाया। इसके बाद पुलिस कर्मियों ने धमाल व मस्ती शुरू कर दी। 

पुलिस लाइन में होली खेलने का यह आयोजन करीब तीन से चार घंटे चला। पुलिस कर्मी होली गीतों पर खूब नाचे गए और गुलाल व रंग उड़ाया। होलिका दहन से लेकर अगले दिन धुलेंडी पर पुलिसकर्मी सुरक्षा व्यवस्था को संभालने में व्यस्त रहते हैं और होली नहीं खेल पाते। इसलिए भाई दूज के दिन पुलिस कर्मी होली खेलते हैं। आयोजन स्थल पर पुलिस अफसरों ने रंग व गुलाल की व्यवस्था की थी। हालांकि पुलिसकर्मी स्वयं भी गुलाल लेकर आए थे। साथ ही डीेजे की व्यवस्था की गई थी। डीजे पर बज रहे गानों पर पुलिस कर्मी थिरके। उनके साथ अफसरों न केवल गाने गाए, बल्कि पुलिस कर्मियों के साथ नाचे भी। ऐसे में पुलिस कर्मियों का मनोबल भी बढ़ता रहा। 

पुलिस अफसर व जवान अपने परिवारों के साथ पहुंचे थे। इस दौरान एसएसपी अमित सांघी ने सभी को होली की शुभकामनाएं दीं। पुलिस जवानों का कहना था कि साल भर पुलिस के बड़े अफसर जवानों से ड्यूटी कराते हैं। जवान पुलिस अफसरों से समान दूरी पर रहते हैं, लेकिन होली पर पुलिस कर्मियों के पास एक मौका होता है जब वे पुलिस अफसरों के साथ उनके सामने ही मस्ती करते हैं और उनके साथ होली खेलते हैं। खासबात यह है कि पूरे आयोजन में पुलिस कर्मी अपने अफसरों को गुलाल व रंग लगा रहे थे। लेकिन अफसर भी उन्हें डाटने की जगह उनके साथ मस्ती करते नजर आए।