अंतरविभागीय समन्वय बैठक में कलेक्टर ने दिए निर्देश…

कार्रवाई ऐसी हो जिससे माफियाओं में खौफ पैदा हो : श्री सिंह


ग्वालियर। एंटी माफिया अभियान के तहत ऐसी कार्रवाई करें, जिससे माफियाओं में खौफ पैदा हो और समाज में सकारात्मक संदेश जाए। इस आशय के निर्देश कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने अंतरविभागीय समन्वय बैठक में जिले के सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा बड़े-बड़े भू-माफियाओं, मिलावटखोरों, शराब माफिया, चिटफंडियों, दूसरे की सम्पत्तियों पर जबरन कब्जा करने वालों, गंभीर अपराधों में लिप्त असमाजिक तत्व एवं खनिज माफिया इत्यादि की अवैध सम्पत्तियों को जब्त कर कठोर कार्रवाई की जाए। कलेक्टर ने बड़े-बड़े माफियाओं की सूची भी सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारियों से मांगी है। सोमवार को यहाँ कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई अंतरविभागीय समन्वय समिति की बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई से कानून व्यवस्था बेहतर होने के साथ-साथ अपराध पर भी नियंत्रण होता है। 

इसलिए एंटी माफिया अभियान को पूरी गंभीरता के साथ अंजाम दिया जाए। सीएम हैल्पलाइन के निराकरण की धीमी प्रगति पर कलेक्टर श्री सिंह ने नाराजगी जताई। उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने क्षेत्र में विशेष तौर पर सीएम हैल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण के लिये शिविर लगाएं। इन शिविरों में संबंधित शिकायतकर्ताओं को बुलाकर उनकी मौजूदगी में शिकायतों का निराकरण करें। स्कूली बच्चों के कोविड टीकाकरण में तेजी लाने पर कलेक्टर श्री सिंह ने विशेष बल दिया। उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी व डीपीसी को निर्देश दिए कि स्वास्थ्य विभाग से समन्वय बनाकर टीकाकरण का लक्ष्य प्राप्त करें। कलेक्टर श्री सिंह ने वनाधिकार पट्टे देने के लिये अनावश्यक रूप से मार्गदर्शन मांगने की प्रवृत्ति पर नाराजगी जताई। उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देश दिए कि ऐसा करने वाले पटवारियों व तहसीलदारों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। तीस मार्च को प्रस्तावित रोजगार मेला और हर घर जल योजना के शुभारंभ कार्यक्रम की तैयारियों की भी बैठक में समीक्षा की गई। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि रोजगार मेले के माध्यम से अधिकाधिक जरूरतमंदों को लाभान्वित कराया जाए। 

जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आशीष तिवारी ने कहा 29 मार्च को सम्पूर्ण प्रदेश के साथ-साथ ग्वालियर जिले में भी प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को गृह प्रवेश कराया जायेगा। जिले के विभिन्न ग्रामों में निवासरत 278 हितग्राही इस दिन अपने पक्के घरों में पहुँचेंगे। बैठक में अपर कलेक्टर एच बी शर्मा, जिले के सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारी तथा विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सभी एसडीएम एवं लोक सेवा प्रबंधक को निर्देश दिए कि जिले में संचालित सभी लोक सेवा गारंटी केन्द्रों की व्यवस्थाओं को बेहतर कर इन केन्द्रों को आदर्श रूप दें। उन्होंने कहा लोक सेवा केन्द्र में सेवाओं के लिये आने वाली आम जनता के लिए पेयजल, बैठने एवं शौचालय इत्यादि की बेहतर व्यवस्थायें की जाएं। ज्ञात हो जिले में कुल 8 लोक सेवा गारंटी केन्द्र संचालित हैं।