आरोपी के वकील ने दी ठग का नाम बताने की चुनौती…

हुंडी के नाम पर व्यापारियों को लगाया 80 करोड़ का चूना !

 

ग्वालियर। शहर के कारोबारियों से 70 से 80 करोड़ रुपए हुंडी लगाने के नाम पर लेकर गायब हुए उनके दलाल आशु गुप्ता के पिता नाथू लाल गुप्ता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में अब चेंबर ऑफ कॉमर्स के साथ व्यापारियों ने 11 मार्च को आंदोलन और हड़ताल करने की घोषणा की है, तो वहीं हुंडी दलाल के वकील सचिन गुप्ता ने इस पूरे मामले में एक नया पेंच पैदा कर दिया है। सचिन गुप्ता ने कहा है कि हुंडी ठगी केवल लोगों की जुबान पर है। इसका कोई प्रमाण पत्र किसी भी व्यापारी के पास नहीं है।

साथ ही जो व्यापारी पुलिस के पास पहुंचे हैं, उनकी संख्या भी बहुत कम है। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की कोई ठगी नहीं हुई है। वकील का कहना है कि मीडिया के माध्यम से उन्होंने कहा कि जिस व्यापारी के साथ ठगी हुई है, वह सामने आए। कोई भी व्यापारी अभी तक सामने नहीं आया है। वकील का कहना है कि सभी व्यापारी टैक्स के डर से अपना नाम सामने नहीं ला रहे हैं। अगर व्यापारी 80 करोड़ की ठगी बता रहे हैं, तो इसमें सीधे इसमें 28 करोड़ का टैक्स की चोरी है। दरअसल, क्राइम ब्रांच ने 70 करोड़ की ठगी करने वाली मंडी दलाल के पिता को गिरफ्तार कर लिया है। व्यापारियों का आरोप है कि हुंडी दलाल के पिता को सब पता है कि उसने ही व्यापारियों का पैसा कहां-कहां ठिकाने लगाया है।

ग्वालियर के बाजार में फर्जी हुंडी थमाकर व्यापारियों का लगभग 70 से 80 करोड़ रुपये लेकर ठगी करने वाले हुंडी दलाल आशू गुप्ता को पुलिस पहले ही हिरासत में ले चुकी है। उससे रुपए अभी तक बरामद नहीं हुए हैं। दलाल ने पहले डबरा के मोनू और गुना और भोपाल के सटोरियों के नाम लेकर सनसनी फैला दी थी। पूरी रकम क्रिकेट में उड़ाने की बात कही थी। इस मामले में पुलिस ने दो सटोरियों को तो पकड़ लिया है, लेकिन डबरा के मौन तक नहीं पहुंच पाई है। इसके अलावा उसके परिवार के लोग भी तभी से गायब थे।