जीआरपी के जवानों ने खींचकर बाहर निकाला…

महिला की जान बचाने के लिए ट्रैन के नीचे आया युवक

 

ग्वालियर में महिला यात्री की जान बचाने के लिए एक युवक चलती ट्रेन में चढ़ गया महिला को कोच में चढ़ाने के फेर में युवक का संतुलन बिगड़ गया जिससे युवक ट्रेन और प्लेटफार्म के बीच फंस गया। दरअसल, समता एक्सप्रेस के एस-7 कोच में मोहम्मद आफताब सवार थे।वह आगरा से उड़ीसा जा रहे थे। इस कोच में कुछ महिलाएं भी बैठी थीं। हालांकि, इनका रिजर्वेशन एस-9 में था। ग्वालियर स्टेशन पर उतरकर ये महिलाएं कोच बदलने लगीं, तभी इसी दौरान ट्रेन चल दी। बबीता नामक महिला चलती ट्रेन में ही चढ़ने लगी।

मोहम्मद आफताब को लगा कहीं महिला गेट से नीचे गिर जाए। उसको बचाने वह भी पीछे से चलती ट्रेन में चढ़ गया और महिला को धक्का देकर कोच के अंदर करने लगा। इस दौरान आफताब का संतुलन बिगड़ा और वह प्लेटफार्म और ट्रेन के बीच वाली जगह में गया। इसी बीच प्लेटफार्म पर ड्यूटी में तैनात जीआरपी के एएसआई महेंद्र सिंह धुर्वे ने युवक को ट्रैन और प्लेटफॉर्म के बीच फंसे हुए देख लिया। उन्होंने जोर से आवाज दी, इस पर यात्रियों ने चेन पुलिंग कर दी। इसके बाद ट्रेन और प्लेटफार्म के बीच फंसे यात्री मोहम्मद आफताब (26) को जीआरपी के जवानों ने खींचकर बाहर निकाल लिया।

ट्रेन रुकी तो यात्री को बचाकर तुरंत कपड़ा बांधा और अस्पताल में भर्ती कराया। घायल यात्री को भर्ती कराने के लिए जीआरपी के प्रभारी टीआई प्रमोद पाटिल ने 108 नंबर पर फोन किया, लेकिन एम्बुलेंस नहीं पहुंची तो जीआरपी के वाहन से घायल यात्री को जेएएच के ट्रामा सेंटर में भर्ती करया। इस दौरान समता एक्सप्रेस लगभग 20 मिनट तक खड़ी रही। यात्री की जान बचाने में एएसआई महेंद्र सिंह धुर्वे सहित जीआरपी के 6 जवान और शामिल रहे। यात्री बिहार के मुजफ्फरपुर का रहने वाला है।