मेडिकल कॉलेजों में होगी हर तरह की स्पेशलाइज्ड सर्विस...

ग्वालियर सहित छह मेडिकल कॉलेजों में खुलेंगे आइवीएफ सेंटर : सारंग

 

भोपाल चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने कहा है कि मेडिकल कॉलेजों में आईवीएफ सेंटर्स के लिये विस्तृत कार्य-योजना तैयार की जा रही है। इससे आर्थिक रूप से कमजोर दंपतियों को लाभ मिलेगा। ग्वालियर, भोपाल सहित प्रदेश के छह मेडिकल कॉलेजों में आइवीएफ (इन विट्रो फर्टिलाइजेशन) सेंटर आगामी तीन माह में खोले जाने हैं।

इसके लियेइन मेडिकल कालेजों से प्रस्ताव माँगा गया है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सारंग ने कहा कि हम हर तरह की स्पेशलाइज्ड सर्विस को मेडिकल कॉलेजों में लेकर रहे हैं। आज आईवीएफ बहुत महत्वपूर्ण पहलू है। इसकी विस्तृत कार्य-योजना बनाकर जल्द से जल्द आईवीएफ यूनिट मेडिकल कॉलेजों में शुरू की जायेंगी। उन्होंने कहा कि किडनी ट्रांसप्लांट सफलता पूर्वक किया है। आगे आने वाले समय में मेडिकल कॉलेज में कैथलेब भी स्थापित की जायेगी। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि टर्सरी केयर के लक्ष्य को साधते हुए मध्यप्रदेश के हर मेडिकल कॉलेज में सभी तरह की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त करें।

ग्वालियर, भोपाल, इंदौर, जबलपुर, रीवा और सागर मेडिकल कॉलेजों में आइवीएफ सेंटर खोले जाने के लिये प्रस्ताव माँगे गये हैं। उल्लेखनीय है कि आर्थिक रूप से कमजोर नि:संतान दंपतियों की परेशानी को ध्यान रखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मेडिकल कॉलेजों में आइवीएफ सेंटर खोलने का निर्णय लिया था।