आचार संहिता और कोविड नियमों के उल्लंघन का आरोप…

प्रियंका गांधी का रोड शो कराने वाले कांग्रेस प्रत्याशी पर केस दर्ज

 

मुरादाबाद में कांग्रेस प्रत्याशी द्वारा डोर-टू-डोर चुनाव प्रचार करने की अनुमति लेकर रोड शो का माहौल बनाने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। मुरादाबाद के एसपी सिटी अखिलेश भदौरिया ने इसकी पुष्टी की है। एसपी सिटी अखिलेश भदौरिया ने कहा कि विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए कांग्रेस प्रत्याशी रिजवान कुरैशी ने घर-घर जाकर प्रचार करने की अनुमति ली थी, लेकिन देखा गया कि कार सवार लोगों के साथ वहां रोड शो का माहौल बना हुआ था। इस संबंध में वहां के सेक्टर मजिस्ट्रेट द्वारा एक तहरीर दी गई,जिस पर अभियोग पंजीकृत किया जा रहा है।"

वहीं, इस संबंध में कांग्रेस उम्मीदवार रिजवान कुरैशी ने कहा, "हम जनसंपर्क ही कर रहे थे लेकिन ये जनता का प्यार था और वो हमारा फूलों से स्वागत कर रहे थे, इसमें हमारा कोई कसूर नहीं है। पिछले दिनों यूपी के उपमुख्यमंत्री और गृह मंत्री के जनसंपर्क में काफी लोग थे, तब क्यों FIR दर्ज़ नहीं हुआ? ये BJP की विफलताओं का नतीजा है।" बता दें कि जिस चुनाव प्रचार को लेकर मुकदमा लिखा गया है, उसमें प्रियंकां गांधी वाड्रा भी थीं। बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान में बृहस्पतिवार को 11 जिलों की 58 विधानसभा सीटों पर शाम पांच बजे तक औसतन 57.79 प्रतिशत वोट पड़े। निर्वाचन आयोग कार्यालय के मुताबिक, शाम पांच बजे तक औसतन 57.79 प्रतिशत वोट पड़े।

आयोग के अनुसार मतदान कार्य कोविड प्रोटोकॉल के तहत सुबह सात बजे शुरू हुआ था। आयोग के मुताबिक, इस दौरान शामली में औसतन 61.78 फीसद, मुजफ्फरनगर में 62.14 फीसद, मेरठ में 58.52 फीसद, बागपत में 61.35 फीसद, गाजियाबाद में 54.77 फीसद, हापुड़ में 60.50 फीसद, गौतम बुद्ध नगर में 54.77 फीसद, बुलंदशहर में 60.52 फीसद, अलीगढ़ में 57.25 फीसद, मथुरा में 58.51फीसद, और आगरा में 56.61 प्रतिशत औसत मतदान हुआ। गौरतलब है कि पहले चरण में शामली, हापुड़, गौतम बुद्ध नगर, मुजफ्फरनगर, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, बुलंदशहर, अलीगढ़, मथुरा तथा आगरा जिलों में मतदान हुआ। पहले चरण का चुनाव जाट बहुल क्षेत्र में हुआ।