3 और 17 को दो नए पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से बदलेगा मौसम…

चक्रवाती घेरा बनने से लौटी ठंड,पचमढ़ी के बाद सबसे ठंडी रही ग्वालियर की रात

 

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के ऊपर चक्रवाती घेरा सक्रिय होने के कारण फिर से ठंड लौट आई है। बीती रात से सुबह तक कोहरे ने शहर को अपने आगोश में ले लिया। इस दौरान 500 मीटर दृश्यता दर्ज की गई। इसके साथ ही उत्तरी हवा चली जिससे लोगों ने सुबह के समय ठिठुरन का अहसास किया। एक सप्ताह बाद कोहरा छाया है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह के अनुसार अभी दो दिन ठंडक रहेगी। इसके बाद 13 और 17 फरवरी को दो पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहे हैं। इससे मौसम में बदलाव आएगा।

साथ ही रात का तापमान बढ़ेगा। गुरुवार को पचमढ़ी के बाद प्रदेश में सबसे ठंडी रात ग्वालियर की रही। पचमढ़ी का न्यूनतम तापमान 9.5 डिग्री दर्ज किया गया। जबकि ग्वालियर और गुना का न्यूनतम तापमान 10.4 डिग्री दर्ज किया गया। हालांकि दिन में धूप निकली। पिछले दिन की तुलना में अधिकतम तापमान 0.8 डिग्री बढ़त के साथ 22.9 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम बदलने के कारण 9 दिन बाद ट्रेनों की रफ्तार पर फिर ब्रेक लग गया। घना कोहरा छाया रहने से गुरुवार को दिल्ली की ओर से आने वाली शताब्दी एक्सप्रेस 1.42 घंटे, पंजाब मेल 2.45 घंटे, मंगला एक्सप्रेस 1.15 घंटे, श्रीधाम धाम एक्सप्रेस 43 मिनट देरी से ग्वालियर आईं।

वहीं झांसी की ओर से आने वाली शताब्दी एक्सप्रेस 45 मिनट और श्रीधाम एक्सप्रेस 44 मिनट देरी से ग्वालियर पहुंची। इससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। वहीं शाम के समय हावड़ा से चलकर ग्वालियर पहुंची चंबल एक्सप्रेस के रेल इंजन से धड़ाम की आवाज आई। इससे स्टेशन पर बैठे यात्री दहशत में गए। यह आवाज ओएचई लाइन में फॉल्ट होने के कारण आई थी।