NSUI नेताओं की गिरफ्तारी पर बोली कांग्रेस...

जिन कार्यकर्ताओं ने ASI को बचाया उनको ही आरोपी बनाया : कांग्रेस

 

ग्वालियर में मचे राजनीतिक धमाल के बीच कांग्रेस ने जिला प्रशासन की कांग्रेसियों को टारगेट कर की जा रही कार्रवाई को दमन की नीति बताया है। कांग्रेस नेता सुनील शर्मा का क्रेशर सील करना और NSUI नेताओं पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर जेल भेजने के मामले में सुनील शर्मा का कहना है कि भाजपा शासन में प्रशासन ने जो किया है ऐसा तो अंग्रेजों के शासन काल में नहीं हुआ था। गरीबों का दमन किया जा रहा है। जिन कार्यकर्ताओं ने एसआई दीपक गौतम की जान बचाई, उनको ही हत्या के प्रयास के मामले में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। युवा और मासूम कार्यकर्ताओं का दमन किया जा रहा है। यह अपने आप में निंदनीय है।

शहर जिला कांग्रेस कमेटी के द्वारा 31 जनवरी को पुतला दहन में सब इंस्पेक्टर दीपक गौतम द्वारा पुतला छीनते समय झुलसने पर उनके स्वास्थ लाभ की कामना करते हुए कहा है कि पुतला छीनने का उद्देश्य भाजपा सरकार एवं प्रशासनिक अधिकारियों को खुश करना था। इसलिए वह पुतला दहन में कूद पड़े जो उचित नहीं था। कांग्रेस नेताओ ने कहा कि कांग्रेस गांधीवादी तरीके से आंदोलन करती रही है और पुतला दहन करना अपराध नहीं है। माननीय मद्रास अन्य हाईकोर्ट द्वारा न्यायिक दृष्टांत दिया जा चुका है , इसका उल्लेख सुप्रिम कोर्ट के अधिवक्ता विवेक तन्खा ने अपने ट्विट में उल्लेख किया है कि पुलिस कर्मचारी अपने राजनीतिक आकाओं को बफादारी दिखाने के चक्कर में सत्ता पक्ष के पुतले नहीं जले इसे प्रतिष्ठा का प्रश्न बना लेते हैं , इतना सत्ता प्रेम क्यों ? बेमतलब आग में झुलस जाएंगे।

शहर के कांग्रेस नेताओं ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा भाजपा सरकार के इशारे पर राजनीतिक बदले की भावना से 20 से 25 वर्ष की आयु के शिवराज यादव , आकाश तीमर , अनीस खान , अभिमन्यू पुरोहित , घनश्याम गुडशैले , सचिन भदौरिया पर हत्या के प्रयास का प्रकरण लगाकर यह स्पष्ट करता है कि प्रशासन निर्दोश को अपराधी ओर अपराधी को निर्दोश बनाता है एसआई को जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन ने पुतला दहन राकने के लिए भेजा था इसलिए धारा 307 जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन पर दर्ज होना चाहिए , क्योंकि एसआई को भेजने की जबावदारी पुलिस प्रशासन की है , पुतला दहन करते हुए कार्यकर्ताओं से एसआई नहीं झुलसे , बल्कि प्रशासन के कहने पर एसआई ने पुतले के साथ झुमाझटकी की इसमें वह पुतले के साथ झुलस गया हम आज भी एसआई गौतम के स्वास्थ लाभ की कामना करते है।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष देवेन्द्र शर्मा का कहना है कि जिस तरह से प्रशासन ने गरीबों का मंडी से हटाकर दमन किया है उनसे गलती हुई है और उनको यह अहसास भी है। क्योंकि वहां पुरातत्व विभाग के नियम के तहत कोई निर्माण नहीं हो सकता है। इसी गलती को दबाने के लिए वह कार्यकर्ताआंे पर मनचाही कार्रवाई कर रहे हैं। कांग्रेस हमेशा से गांधीवादी तरीके से प्रदर्शन करती है, लेकिन उसे बदनाम किया जा रहा है। आगे भी गरीबों के लिए कांग्रेस का प्रदर्शन जारी रहेगा।