महामारी का दौर अभी खत्म नहीं हुआ...

सतर्कता और सावधानी ही बचाव का एकमात्र रास्ता : PM

 

नई दिल्ली l प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को देश में कोरोनावायरस से उपजे मौजूदा हालातों की समीक्षा की l पीएम मोदी ने स्वास्थ्य मंत्रालय और अन्य संबंधित एजेंसियों के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बारे में जानकारी ली l इससे पहले प्रधानमंत्री ने 24 दिसंबर को भी ऐसी ही बैठक की थी l पीएम मोदी ने लोगों से सतर्क और सावधान रहने की अपील की है l पीएम मोदी ने कोरोना की स्थिति की उच्चस्तरीय समीक्षा की l यह समीक्षा बैठक ऐसे वक्त हुई है, जब दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े महानगरों और तमिलनाडु और कर्नाटक जैसे राज्यों में कोरोना के मामले पिछले 15 दिनों में बेहद तेजी से बढ़े हैं l

इस बीच चुनाव आयोग ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव का ऐलान भी कर दिया है l प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले समीक्षा बैठक में कहा था कि कोरोना महामारी का दौर अभी खत्म नहीं हुआ है और सतर्कता और सावधानी ही बचाव का एकमात्र रास्ता है l उन्होंने सभी लोगों से कोविड प्रोटोकॉल के सभी मानकों का पूरी तरह से पालन करने को भी कहा था l तब से अब तक भारत में कोरोना के सक्रिय मरीज 80 हजार से बढ़कर 6 लाख तक पहुंच गए हैं l यह डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के लिए चिंता का सबब बन सकता है l एम्स, आरएमएल समेत दिल्ली के कई अस्पतालों, संसद भवन के सैकड़ों कर्मचारी और सुप्रीम कोर्ट के चार जज समेत तमाम स्टाफ इस वायरस की चपेट में चुके हैं l

दिल्ली में पहले ही वीकेंड कर्फ्यू लागू किया जा चुका है l दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु समेत बड़े शहरों में सबसे ज्यादा संक्रमण सामने रहा है l देश में रविवार को कोरोना वायरस के करीब 1.6 लाख नए मरीज सामने आए हैं, जो पिछले 224 दिन में रोजाना के सबसे ज्यादा मामले हैं l जबकि सक्रिय मरीजों की संख्या 6 लाख के करीब पहुंच गई है, जो करीब 197 दिन में सर्वाधिक है l सरकारी सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री ने वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से हुई इस बैठक में कोविड-19 की ताजा स्थिति की समीक्षा की l रविवार को कोविड-19 के नये वैरिएंट ओमिक्रॉन के 552 नए मामले सामने आए हैं l इससे संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 3,623 हो गई है l