निकाली न्याय यात्रा, दोषियों को फांसी देने की मांग…

Nemavar हत्याकांड मामले ने एक बार फिर पकड़ा राजनीतिक तूल

 

भोपाल। मध्यप्रदेश का चर्चित नेमावर हत्याकांड मामला एक बार फिर राजनीतिक तूल पकड़ना शुरू कर दिया है। इस हत्याकांड में मारे गए परिवार की सबसे बड़ी बेटी भारती कास्डे ने नेमावर से भोपाल तक के लिए 11 दिवसीय न्याय यात्रा की शुरुआत कर दी है। इस न्याय यात्रा की शुरुआत उस स्थान से की गई, जहां आदिवासी परिवार के 5 लोगों को मार कर 10 फीट गहरे गड्ढे में गाड़ दिया गया था।

भारती ने उस जगह पर पूजा करते हुए इस हत्याकांड में मारे गए अपने परिवार वालों जिसमें उनकी मां, भाई और बहनों को श्रद्धांजलि देकर इस न्याय यात्रा की शुरूआत की, और दोषियों को फांसी की सजा दिलाने तक लड़ाई जारी रखने का संकल्प लिया। भारती की मांग हैं कि सभी दोषियों को फांसी की सजा दी जाए, तभी उसके परिवार के मृत लोगों को न्याय मिल पाएगा। इस न्याय यात्रा में भारती के साथ विधायक हीरालाल अलावा और सामाजिक संघठन से जुड़े कुछ कार्यकर्ता भी शामिल हैं। न्याय के लिए निकाली जा रही यह पद यात्रा प्रतिदिन 15 किलोमीटर का सफर तय करते हुए 11 दिन बाद भोपाल के राजभवन पहुंचेगी।

भारती ने कहा कि, यह यात्रा प्रदेश की सभी बेटियों की सुरक्षा के लिए निकाली जा रही है। हम नहीं चाहते कि जो हमने सहा है, वह कोई और सहे। सभी सामाजिक और आदिवासी संघठनों द्वारा किए गए आंदोलन के बाद यह फैसला लिया गया है। अगर यह फैसला शिवराज सरकार द्वारा पहले ही ले लिया जाता तो, मामले में सही जांच हो पाती अब तक कई साक्ष्य मिटने के प्रयास किए गए होंगे।