आगामी बजट के लिए आमजन से सुझाव लेने के दिए निर्देश…

प्रदेश में आर्थिक गतिविधियों पर पड़े कोरोना संकट का असर : CM

 

भोपाल। कोरोना संक्रमण नियंत्रित करने में मध्य प्रदेश पहले भी जनभागीदार से सफल हुआ है और इस बार भी होगा संक्रमण की दर हमारे यहां सात प्रतिशत है, जबकि अन्य राज्यों में यह दस प्रतिशत से अधिक है। कोरोना संकट का असर आर्थिक गतिविधियों पर पड़े, इस पर विशेष ध्यान रखें गरीब के काम धंधे प्रभावित नहीं होने चाहिए सभी मंत्री पहले की तरह नेतृत्वकारी भूमिका निभाएं। आगामी बजट के लिए आमजन से सुझाव लें।

संत रविदास जयंती के कार्यक्रम की तैयारी करें यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को कैबिनेट बैठक से पहले मंत्रियों से कही। उन्होंने कहा कि सभी मंत्री जिलों में अस्पतालों की व्यवस्थाओं का जायजा लेते रहें। कोई भी टीकाकरण से वंचित नहीं रहना चाहिए अभी तक 97 प्रतिशत पात्र व्यक्तियों को पहला और 90. 6 प्रतिशत व्यक्तियों को दूसरा टीका लग चुका है। इसके बाद भी हमें लापरवाह नहीं होना है। संक्रिमत व्यक्तियों से संवाद करके उनका मनोबल बढ़ाएं। इस दौरान अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने प्रस्तुतीकरण में बताया कि राज्य में सिर्फ 2.2 प्रकरणों में रोगी अस्पतालों में भर्ती हैं बाकी होम आइसोलेशन में स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने मंत्रियों से कहा कि वे विभागीय योजनाओं की नियमित रूप से समीक्षा करें। बजट तैयार करने की प्रक्रिया चल रही है। इसमें विभागीय प्राथमिकताओं का ध्यान रखें। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ वाराणसी में मुख्यमंत्री कानक्लेव में जिन मुद्दों पर बात हुई थी, उन्हें विभाग की प्राथमिकताओं में शामिल करें। उन्होंने मंत्रियों को बताया कि उन्होंने सोमवार को रात में रैनबसेरों में नागरिकों से भेंट की थी। सभी मंत्री जिलों में रैनबसेरा जैसे स्थानों को देखेंगे।