शासन को 35 करोड़ का चूना लगा…

शिवराज घपले की जांच कराएं और जमीन का टेंडर निरस्त करें : अजय सिंह

 

भोपाल, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह ने मुरैना में परिवहन निगम की बेशकीमती व्यवसायिक जमीन भाजपा से जुड़े हुए लोगों की फर्म शांति साल्वेक्स प्राइवेट लिमिटेड को कलेक्टर दर से कम कीमत में देकर शासन को 35 करोड़ रुपये का चूना लगाने का आरोप लगाया है। उन्होंने इसकी जांच कर टेंडर निरस्त करने और घपले में शामिल अधिकारियों के विरुद्ध प्रकरण कायम करने की मांग मुख्यमंत्री शिवराजसिंह से की है। अजयसिंह ने आरोप लगाया है कि मुरैना के वार्ड नम्बर 13 में स्थित सड़क परिवहन निगम की 9 हजार 34 वर्गमीटर से अधिक जमीन व्यवसायिक इलाके में है। कलेक्टर दर पर इसकी कीमत लगभग 101 करोड़ रुपये है।

लेकिन परिवहन निगम और लोक परिसंपत्ति प्रबन्धन विभाग के अधिकारियों ने कूट रचना कर इस जमीन की बिक्री के लिए केवल 65 करोड़ 27 लाख रुपये की निविदा का विज्ञापन जारी किया। फिर षडयंत्र पूर्वक शांति साल्वेक्स प्राइवेट लिमिटेड के पक्ष में निविदा खोल दी गई। इससे शासन को 35 करोड़ रुपये की सीधी आर्थिक हानि हुई। श्याम बंसल और माधव गोयल शांति साल्वेक्स प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर हैं जिनके परिजन भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारी भी हैं। सिंह ने आरोप लगाया है कि इतना बड़ा घपला ऊपरी इशारे के बिना संभव नहीं है।

जाहिर है अधिकारियों को यह सब करने के लिए उच्च स्तर से दबाव डाला गया है। प्रदेश के सभी जिलों में परिवहन निगम की बेशकीमती जमीनें पड़ी हुई हैं, जो अब व्यवसायिक क्षेत्रों के बीचों बीच स्थित हैं। जिस तरह मुरैना में भाजपा के लोगों जमीन दे दी गई उसी तरह प्रदेश के अन्य स्थानों पर भी षड्यंत्र पूर्वक औने पौने दाम पर भूमि बेचे जाने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने शिवराज सिंह चौहान से व्यक्तिगत रुचि लेकर प्रकरण की जांच की मांग की है ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके और जनता के सामने वस्तुस्थिति सके।