ओला प्रभावित गाँवों में पहुँचे प्रभारी मंत्री…

संकट की घड़ी में सरकार किसानों के साथ है : श्री सिलावट

 

ग्वालियर जिले में ओलावृष्टि एवं असमय वर्षा से 74 गाँवों की फसलें प्रभावित हुई हैं। प्रभावित गाँवों में 9 हजार से अधिक हैक्टेयर रकबे की फसलों को नुकसान पहुँचा है। जिले के प्रभारी मंत्री एवं जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट सोमवार को सुबह ही प्रभावित गाँवों में पहुँचे और किसानों से चर्चा की। उन्होंने किसानों को आश्वस्त किया है कि संकट की घड़ी में सरकार उनके साथ है। जिले के प्रभारी मंत्रीतुलसीराम सिलावट ने कहा है कि प्रदेश सरकार किसानों के साथ खड़ी है। ओलावृष्टि और असमय वर्षा से फसलों को हुए नुकसान का मुआवजा किसानों को मुहैया कराया जायेगा। उन्होंने जिले के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि प्रभावित सभी गाँवों में पारदर्शिता के साथ जल्द से जल्द सर्वे कराने का कार्य किया जाए।

प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट सोमवार को प्रात: 7 बजे ही प्रभावित ग्राम डगौरा, सवराई, पाटई, बराहना तथा बड़कागाँव पहुँचे और किसानों से उनके खेत पर ही भेंट कर विस्तार से चर्चा की। उनके साथ भाजपा जिला अध्यक्ष ग्रामीण कौशल शर्मा, मोहन सिंह राठौर, कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक अमित सांघी, एडीएम एच बी शर्मा सहित जनप्रतिनिधि और विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ने किसानों से चर्चा करते हुए उन्हें आश्वस्त किया कि असमय वर्षा और ओलावृष्टि से फसलों को जो नुकसान हुआ है, उसका सर्वे पारदर्शिता के साथ शीघ्र पूरा किया जाएगा। सर्वेक्षण के उपरांत आरबीसी 6 – 4 के प्रावधानों के तहत राहत राशि भी किसानों को मुहैया कराई जायेगी।

प्रभारी मंत्री श्री सिलावट ने यह भी कहा कि पात्र सभी किसानों को फसल बीमा की राशि भी दिलाई जायेगी। प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह से कहा कि जिले के सभी प्रभावित गाँवों का सर्वेक्षण कार्य तत्परता से पूर्ण कराया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि सर्वेक्षण का कार्य पूरी पारदर्शिता के साथ किसानों को साथ लेकर किया जाए। कोई भी प्रभावित किसान सर्वेक्षण से छूटना नहीं चाहिए। किसानों से चर्चा के दौरान राजस्व प्रकरणों के निराकरण के संबंध में किसानों द्वारा बताई गई जानकारी पर प्रभारी मंत्री ने निर्देश दिए हैं कि राजस्व प्रकरणों के निराकरण हेतु गाँव में ही शिविर लगाकर लंबित राजस्व प्रकरणों का निराकरण सुनिश्चित किया जाए।

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने प्रभारी मंत्री श्री सिलावट को बताया कि जिले में प्रारंभिक आंकलन के अनुसार ओलावृष्टि से जिले के डबरा, भितरवार घाटीगाँव क्षेत्र में 74 गाँवों में करीब 9 हजार 800 हैक्टेयर रकबे की फसल को नुकसान हुआ है। लगभग 30 करोड़ रूपए की क्षति का अनुमान है। घाटीगाँव जनपद क्षेत्र में 20 गाँवों में लगभग 2 हजार 800 हैक्टेयर की फसल ओलावृष्टि से प्रभावित हुई है, जिसकी अनुमानित फसल हानि लगभग 8 करोड़ 36 लाख रूपए आंकी गई है। कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि डबरा क्षेत्र में 39 गाँवों की लगभग 4 हजार हैक्टेयर में लगभग 12 करोड़ रूपए की फसल हानि और भितरवार क्षेत्र के 15 ग्रामों में करीब 3 हजार हैक्टेयर रकबे में लगभग 9 करोड़ रूपए के नुकसान का प्रारंभिक सर्वे सामने आया है