पीएचडी थीसिस पर हस्ताक्षर के लिए…

प्रोफेसर 10,000 रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ़्तार

पीएचडी की थीसिस पर हस्ताक्षर करने के नाम पर दिल्ली के छात्र से 10 हजार रुपए की रिश्वत ले रहे प्रोफेसर डाॅ. बीडी माणिक को आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो (ईओडब्ल्यू) ने पकड़ा है। वीआरजी कालेज मुरार में नृत्य विभाग के अध्यक्ष डा. माणिक के खिलाफ ईओडब्ल्यू ने इस कार्रवाई को उनके सिटी सेंटर मनोहर एन्क्लेव स्थित निवास पर अंजाम दिया।

प्रोफेसर ने पूरी थीसिस पर हस्ताक्षर करने के लिए 51 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी। पहली किस्त के रूप में छात्र 10 हजार रुपए लेकर पहुंचा था। जानकारी के मुताबिक अवनीश कुमार पुत्र दुष्यंत कुमार निवासी नजफगढ़, नई दिल्ली 2018 से वीआरजी कॉलेज मुरार में नृत्य विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. बीडी माणिक के मार्गदर्शन में संगीत में पीएचडी कर रहा है।

डॉ. माणिक को देशभर में कई सम्मान मिल चुके हैं। उन्हें छत्तीसगढ़ सरकार ने 2017 में आउटस्टैंडिंग टीचिंग स्किल अवॉर्ड दिया था। अलवर में पं. रघुवीर शरण स्मृति कला सम्मान, जबलपुर में भातखांडे संगीत महाविद्यालय की ओर से कला गुरु सम्मान और वंदेमातरम अलंकरण सहित कई अवॉर्ड मिल चुके हैं।