महिला सशक्तिकरण की नई इबारत लिख रहीं…

स्मार्ट सिटी बसों पर तैनात महिला कंडक्टरो का केंद्रीय मंत्री ने किया सम्मान 

ग्वालियर। ग्वालियर शहर की महिलायें बस परिचालक (कंडक्टर) की भूमिका का सफलतापूर्वक निर्वहन कर महिला सशक्तिकरण की नई इबारत लिख रही हैं। ग्वालियर स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन ने सूत्र सेवा के तहत 12 महिलाओं को शहर के अंदर दौड़ने वाली सिटी (इंट्रा) बस और इंटरसिटी बसों में बतौर कंडक्टर काम पर रखा है। केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट परिसर में  इन महिला कंडक्टर का सम्मान कर इस सेवा का विधिवत शुभारम्भ किया। 

केन्द्रीय मंत्री ने इस अवसर पर कहा कि महिलाओं द्वारा बस परिचालक जैसे दायित्व का निभाना नारी सशक्तिकरण का सशक्त उदारहण है। उन्होंने कहा कि इस सेवा की शुरुआत से बसों में सफर कर रही महिलाओं में भी सुरक्षा का भाव आएगा। इस अवसर पर पूर्व मंत्री इमरती देवी, पूर्व विधायक रमेश अग्रवाल, रामबरन गुर्जर, मदन कुशवाह व मुन्नालाल गोयल, भाजपा जिला अध्यक्ष शहर कमल माखीजानी व ग्रामीण कौशल शर्मा तथा मोहन सिंह राठौर सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना, पुलिस महानिरीक्षक अविनाश शर्मा, कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस उप महानिरीक्षक राजेश हिंगणकर, अपर आयुक्त परिवहन अरविंद सक्सेना, पुलिस अधीक्षक अमित सांघी, नगर निगम आयुक्त किशोर कान्याल व स्मार्ट सिटी की सीईओ जयति सिंह सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे। 

स्मार्ट सिटी सीईओ जयति सिंह ने बताया कि स्मार्ट सिटी की सूत्र सेवा योजना के तहत शहर में 13 सिटी बस चल रही हैं, जबकि 14 इंटरसिटी बसें दूसरे शहरों में आ-जा रही हैं। अभी 8 महिला परिचालकों को सिटी बस पर तैनात किया है। शेष 4 महिलाओं को शहर के बाहर जाने वाली ग्वालियर-भिंड, ग्वालियर-गुना और ग्वालियर-शिवपुरी बस में तैनात किया गया है। जल्द ही 10 महिलाओं को बतौर ड्राइवर नौकरी दी जाएगी।