फायर ब्रिगेड ने गेट तोड़कर आग को बुझाया…

सिटी सेंटर स्थित कोटक महिंद्रा बैंक में उठीं आग की लपटें

ग्वालियर में शनिवार की सुबह सिटी सेंटर स्थित कोटक महिंद्रा बैंक के फाइनेंस विभाग के सर्वर रूम में आग लग गई है। चौकीदार ने फायर ब्रिगेड को सूचना दी। फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों ने सिर्फ 1 मिनट में मौके पर पहुंचकरकर स्थिति को संभाला। सबसे पहले गेट तोड़ा, फिर केबिन में लगे कांच को तोड़कर धुएं को बाहर निकाला। इसके बाद बैंक के आखिरी हिस्से में लगे सर्वर रूम में पहुचंकर आग को बुझाया। करीब 3 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर पूरी तरह काबू पाया जा सका। आग में लाखों का नुकसान होने की बात कही जा रही है। समय रहते आग पर काबू नहीं पाया जाता तो पूरी बैंक जलकर राख हो जाती। साथ ही आसपास भी आग फैल सकती थी। आग कैसे लगी यह जांच अभी जारी है। 

फायर ब्रिगेड टीम इसे शॉर्ट सर्किट से आग लगना मान रही है। शहर के सिटी सेंटर स्थित इंग्लिश वाइन शॉप के पास कोटक महिन्द्रा बैंक है। यहां धनतेरस से ही बैंक में छुट्टी होने पर ताला लगा था। देखरेख के लिए सिर्फ एक चौकीदार की ड्यूटी थी। वह भी बैंक के बाहर बैठकर निगरानी कर रहा था। शनिवार अलसुबह 4 बजे के करीब देखा कि बैंक के अंदर से धुंआ उठ रहा है। इस पर चौकीदार को समझते देर नहीं लगी कि अंदर आग लगी है। तत्काल बैंक प्रबंधन और दमकल दस्ते को सूचना दी गई। दमकल विभाग का ऑफिस पास ही है इसलिए सिर्फ 1 मिनट में पानी से लैस होकर गाड़ियां स्पॉट पर पहुंच गईं। सबसे पहले बैंक का गेट तोड़ा गया और अंदर पहुंचे। यहां पहुंचकर पता लगा कि आग का धुंआ फाइनेंस विभाग के पीछे सर्वर रूम से आ रहा है। 

जब फायर ब्रिगेड की टीम अंदर पहुंची तो धुंए से दम घुटने लगी। इस पर तत्काल दमकल दस्ते ने आसपास के रूम और केबिन के कांच फोड़ दिए। जिससे धुंआ बाहर की तरफ निकला और फायर ब्रिगेड के कर्मचारियें ने आग पर काबू पाया। समय पर दमकल दस्ते के पहुंचने और एक्शन लेने से बड़ा हादसा टल गया। घटना स्थल पर मौजूद बैंक मैनेजर योगेश हेमराजन से नुकसान के बारे में पूछने पर उन्होंने बताया कि अभी तक इसका अनुमान नहीं लगाया है। हमारे सर्वर पर एडमिन का कन्ट्रोल रहता है। इसके संबंध में वही बतायेंगे। बैंक कर्मचारियों ने सर्वर रूम के पास से काफी दस्तावेज आग की लपटें पहुंचने से पहले बचा लिए हैं। आग कैसे लगी कोई नहीं बता पा रहा है।