सुशासन एवं जनसामान्य की सुविधाओ में वृद्धि हेतु…

परिवहन विभाग की विभागीय बैठक संपन्न 

परिवहन विभाग द्वारा सुशासन एवं जनसामान्य की सुविधाओ में वृद्धि हेतु विभागीय बैठक का आयोजन दिनांक 08-10-2021 को परिवहन मुख्यालय, ग्वालियर में किया गया। इस बैठक में प्रदेश के सभी संभागीय उप परिवहन आयुक्त तथा क्षेत्रीय एवं ज़िला परिवहन अधिकारी उपस्थित रहे। इस बैठक में मुख्य रूप से जनसामान्य के लिए परिवहन कार्यालयों में स्थापित परिवहन हेल्प डेस्क पर चर्चा की गयी, परिवहन आयुक्त मुकेश जैन ने सभी परिवहन अधिकारी को हेल्प डेस्क हेतु दिशा निर्देश दिये। प्रत्येक कार्यालय में परिवहन हेल्प डेस्क का सुचारु रूप सेसंचालन हो एवं आम जनता को विभागीय कार्यों की समुचित जानकारी उपलब्ध कराने के साथ-साथ आवश्यक वस्तुएँ जैसे स्टेपलर, पेपर, ग्लू की सुविधा के लिए रखा जाए एवं एक फ़ीडबैक पुस्तिका भी हेल्प डेस्क पर रखी जाए जिससे आम जन कार्यालय के अनुभव को दर्ज कर सके। श्री जैन ने यह भी निर्देशित किया कि कार्यालय में आने वाले प्रत्येक नागरिक को सुखद एवं निर्बाध सेवाओ की उपलब्धतता सुनिश्चित करें। अपर परिवहन आयुक्त अरविंद सक्सेना द्वारा लम्बित विभागीय जाँच तथा नवाचार के सम्बंध मेंजानकारी दी गयी। शासन की नवीन परियोजना के सम्बंध मेंविस्तृत चर्चा की गयी। 

सभी विभागीय अधिकारियों को विभागीय जाँच एवं अन्य कार्यवाहियों के विधिक पक्ष के संबंध में श्री सक्सेना द्वारा विस्तृत जानकारी दी गयी। विधान सभा प्रश्नो एवं CAG/PAC के संबंध मेंभी वरिष्ठ अधिकारीयों द्वारा मार्गदर्शन दिया गया। परिवहन विभाग के सी एम हेल्पलाइन में लगातार प्रथम स्थान पर आनेके लिए सभी अधिकारियों की प्रशंसा परिवहन आयुक्त द्वारा की गयी एवं सभी कार्यालयों को सीएम हेल्पलाइन शिकायतों को प्राथमिकता से संतुष्टि पूर्ण तरीक़े से बंद कराए जाने के लिए कहा गया, इस हेतु सभी शिकायतकर्ताओ को कार्यालय में व्यक्तिगत रूप से बुलाकर निराकरण करने की प्रक्रिया अपनाने के निर्देश दिए गए। सीएम हेल्पलाइन निराकरण में वर्तमान प्रदर्शन को बनाए रखने के लिए निर्देशित किया गया। कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर के कमजोर पड़ने के बावजूद कोरोना के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए राज्य शासन ने “मध्य प्रदेश में मेडिकल ऑक्सिजन की उपलब्धतता सुनिश्चित करते हुए मेडिकल ऑक्सिजन के उत्पादन में आत्मनिर्भर” बनाने का लक्ष्य रखा गया है। 

इस हेतु परिवहन विभाग ने मुख्य रूप से PESO (Petroleum and Explosive safety Organization द्वारा पंजीकृत मध्यप्रदेश स्थित क्रायोजेनिक टेंकरों के मालिकों से समन्वय कर सभी टेंकरों में GPS/ Vehicle Location Tracking डिवाइस लगवाना सुनिश्चित किया है, लिक्विड मेडिकल ऑक्सिजन के सुचारु परिवहन हेतु मध्यप्रदेश राज्य में प्रशिक्षित टेंकर चालकों का एक पूल तैयार किया गया है, जो कि आपातकालीन स्तिथि में काम आ सकेगा, चूँकि टेंकरो पर दो या अधिक चालक होने से टेंकर की प्रभावी गति अधिक हो जाती है। प्रशिक्षित चालकों का पूल तैयार करने का कार्य संभागीय उप परिवहन आयुक्त इंदौर संभाग एवं क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी इंदौर के द्वारा ITI इंदौर के साथ मिलकर एवं क्रायोजेनिक टेंकर ऑपरेटरों से समन्वय कर किया गया। परिवहन विभाग का सारा फ़ोकस भविष्य में आने वाली किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने पर है। लिक्विड मेडिकल ऑक्सिजन के परिवहन पर भी विस्तृत चर्चा इस बैठक में की गयी। परिवहन विभाग द्वारा महिलाओ के लिए ड्राइविंग ट्रेनिंग कार्यक्रम को बहुत अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है, सभी कार्यालयों में ITI के सहयोग से ऐसे प्रशिक्षण आयोजित किए जा रहे है, जिससे महिलायें आत्मनिर्भर बन रही है, इंदौर जबलपुर ग्वालियर में दूसरे चरण का प्रशिक्षण आयोजित करने के लिए परिवहन अधिकारियों को निर्देशित किया गया।

ग्रामीण क्षेत्रों में वर्तमान में सार्वजनिक परिवहन की कमी को दूर करने के लिए ग्रामीण परिवहन सेवा के सम्बंध में संभागीय परिवहन उपायुक्त सपना अनुराग जैन द्वारा प्रस्तुतीकरण दिया गया । सुदूर ग्रामों में परिवहन सुविधा उपलब्ध कराने के लिए विभिन्न मॉडल पर विचार किया गया। भविष्य की कार्य योजना पर भी चर्चा की गयी जिसमें सुरक्षित परिवहन हेतु प्रत्येक ज़िले में विज़न ज़ीरो कार्यक्रम के अंतर्गत सुरक्षित वाहन एवं सड़कों के लिए अन्य विभागों के साथ समन्वय कर दुर्घटनाओ में कमी लाने के लिए निर्देश परिवहन आयुक्त द्वारा दिए गए। ओवरलोडिंग यात्री वाहनो के विरुद्ध सघन अभियान चलाने हेतु निर्देश दिए गए। कोविड काल में जीवनदायी लिक्विड मेडिकल ऑक्सिजन के परिवहन को अनवरत सुनिश्चित कराने वाले सभी अधिकारी/कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया, साथ ही साथ सीएम हेल्पलाइन में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले ज़िलों को भी सम्मानित किया गया।