JAH में लग रहीं लंबी-लंबी कतारें…

ग्वालियर में डेंगू पीड़ितों की संख्या 583 के पार

ग्वालियर में डेंगू पीड़ितों की संख्या 583 पर पहुंच गई। मंगलवार काे संदिग्ध मरीजों के सैंपलों की हुई जांच में 66 को डेंगू होने की पुष्टि हुई है। इसमें से 39 ग्वालियर के हैं और शेष 27 अन्य जिलों के हैं। वायरल फीवर के मरीज भी तेजी से बढ़ रहे हैं। इसका असर सरकारी अस्पतालों की स्वास्थ्य सेवाओं पर पड़ने लगा है। यहां इंतजामों के दावों की हवा निकलने लगी है। अंचल के सबसे बड़े अस्पताल JAH (जयारोग्य हॉस्पिटल) की OPD में पहुंच रहे मरीजों को अब बुखार की दवा पैरासिटामोल तक नहीं मिल रही है। बच्चों के लिए पैरासिटामोल का सीरप भी उपलब्ध नहीं है। यह हालत तब हैं जब कमलाराजा हॉस्पिटल में बच्चों के इलाज की व्यापक व्यवस्था नहीं होने के मामले में न्यायालय में लगी जनहित याचिका पर अस्पताल प्रबंधन और शासन को जवाब देना है। मंगलवार को ग्वालियर में मिले 39 डेंगू पॉजिटिव में 20 से ज्यादा बच्चे हैं। 

बीते 30 दिन में जिले में 537 डेंगू के मरीज मिल चुके हैं, जिसमें से 305 बच्चे हैं। जिले में डेंगू से अब तक 2 बच्चों की मौत भी हो चुकी है। मंगलवार को 150 से ज्यादा संदिग्ध की जांच में से 66 नए डेंगू मरीज मिले हैं। जिनमंे ग्वालियर के 39 मरीज हैं। शेष 27 मरीज अन्य पड़ोसी जिलों के हैं। अब तक कुल डेंगू मरीज 583 मिल चुके हैं। आशंका है कि बुधवार को यह आंकड़ा 600 के पार हो जाएगा। बहुत तेजी से डेंगू के मरीज बढ़ रहे हैं। इस समय अंचल में वायरल फीवर और डेंगू काफी तेजी से फैल रहा है। लगातार मरीज बढ़ते जा रहे हैं। कोरोना से अभी राहत है तो डेंगू महामारी बनकर फेल रहा है। अभी जेएएच के ओपीडी में हर दिन 2200 से 2300 मरीज हर दिन आ रहे हैं। ज्यादातर वायरल से पीड़ित होते हैं। उनमें से 200 से ज्यादा डेंगू संदिग्ध होते हैं। जिनके टेस्ट कराए जाने पर हर दिन आधा सैकड़ा से अधिक डेंगू पॉजिटिव मिल रहे हैं। 

शहर में डेंगू के अभी तक 583 केस मिल चुके हैं, लेकिन अब ब्लड बैंक में प्लेटलेट्स की कमी हाे गई है। शहर के अधिकांश ब्लड बैंक में जम्बो प्लेटलेट्स निकालने के लिए किट उपलब्ध नहीं हैं। जयारोग्य अस्पताल और रेडक्रॉस के ब्लड बैंक ही शहर के प्राइवेट ब्लड बैंक में भी इन किट का स्टॉक कम होता जा रहा है। इस कारण मरीज के परिजन ब्लड बैंकों और अस्पतालों के चक्कर काट रहे हैं। हालांकि JAH का ब्लड बैंक और रेडक्रॉस सोसायटी मरीजों की जान बचाने के लिए पीआरपी (प्लेटलेट रिच प्लाज्मा) दे रहे हैं। ग्वालियर में डेंगू के मरीज सबसे ज्यादा शहर के डीडी नगर, शताब्दीपुरम, पिंटो पार्क, गोला का मंदिर, मुरार, सिकंदर कंपू में मिल रहे हैं। यह एरिया लगातार हॉट स्पॉट बने हुए हैं। यहां लगातार नगर निगम और स्वास्थ्य विभाग की टीमें पहुंचकर लार्वा की जांच कर रही हैं। स्पॉट फाइन भी किया जा रहा है। अभी तक 150 से ज्यादा लोगों को स्पॉट फाइन किया जा चुका है।