देखती रह गई पुलिस…

दिल्ली में हाई अलर्ट के बीच गोगी की हत्या का बदला !

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस को गोगी की हत्या के बाद से जिस गैंगवार की आशंका थी, वह शुरू हो चुकी है. गोगी के साथियों ने सोमवार रात रोहिणी सेक्टर-16 स्थित मार्केट में टिल्लू से जुड़े हुए एक बदमाश की ताबड़तोड़ गोली मारकर हत्या कर दी. राजधानी में घोषित हाई अलर्ट के बीच सरेआम बाजार में इस हत्या को अंजाम दिया गया. वारदात के बाद बड़ी ही आसानी से हमलावर मौके से फरार होने में कामयाब रहे. प्राथमिक जांच में यह माना जा रहा है कि गोगी के साथियों ने इस हमले को अंजाम दिया है. बता दें कि 24 सितंबर को रोहिणी कोर्ट में ताबड़तोड़ गोली मारकर जितेंद्र उर्फ गोगी की हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड को टिल्लू के साथियों ने अंजाम दिया था. क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा इस हत्याकांड में टिल्लू को भी गिरफ्तार किया जा चुका है. 

लेकिन हत्या के बाद से गोगी गैंग के बदमाश लगातार बदला लेने के लिए मौका तलाश रहे थे. हाल ही में, स्पेशल सेल ने गोगी गैंग के चार शूटरों को गिरफ्तार भी किया था जिनके पास से बड़ी मात्रा में अवैध हथियार बरामद किए गए थे. उन्होंने पुलिस के समक्ष खुलासा किया था कि वह क्राइम ब्रांच की हिरासत में टिल्लू को मारना चाहते थे. इसके बाद से ही लगातार यह आशंका जताई जा रही थी कि दोनों गैंग के बीच गैंगवार होना तय है. दिल्ली में हाई अलर्ट है और पुलिस कमिश्नर द्वारा सभी जिला में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त करने के निर्देश दिए गए हैं. इसके बावजूद मार्केट में बदमाशों ने राधे नामक इस युवक की सरेआम हत्या कर दी. यह अपने आप में पुलिस पर एक बड़ा सवाल खड़ा कर रहा है. 

पुलिस को जांच के दौरान पता चला है कि वह टिल्लू के साथी ढिल्लू का करीबी था. वह कुछ समय पहले ढिल्लू के साथ गिरफ्तार भी हुआ था. ढिल्लू वही शख्स है जो वर्ष 2018 में मौलाना आजाद अस्पताल से पुलिस की आंखों में मिर्ची झोंक कर फरार हुआ था. हालांकि, उसे वर्ष 2020 में स्पेशल सेल की टीम ने गिरफ्तार कर लिया था. सूत्रों की माने तो रोहिणी में हुआ यह हमला गोगी की हत्या के बाद केवल इस गैंगवार को आगे बढ़ाने की शुरुआत है. दोनों गैंग एक दूसरे के खून के प्यासे हैं और आने वाले दिनों में दोनों तरफ से कई हत्याओं को अंजाम दिए जाने की आशंका है. दिल्ली पुलिस अपने स्तर पर इस गैंगवार को रोकने के भरसक प्रयास कर रही है. लेकिन जिस तरीके से आज वारदात हुई है, उससे पुलिस के प्रयास फेल होते हुए नजर आ रहे हैं.