इफको द्वारा ग्राम पढ़ावली में कार्यक्रम सम्पन्न…

बुजुर्गो की याद में पितृपक्ष में फलदार पौधें अवश्य लगाये : केन्द्रीय मंत्री 

मुरैना। केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा है कि आज महात्मा गांधी की जयंती के शुभ अवसर पर तथा देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्म दिवस 17 सितम्बर से 7 अक्टूबर तक पखवाड़े के रूप में राज्य सरकारें मना रही है। है। यह 75वें भारत अमृत महोत्व के तहत हर राह पर बढ़ते कदम के रूप में मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री व देश के प्रधानमंत्री के पद पर रहते 20 वर्ष गुजर चुके है, इसलिये 20 दिन का यह पखवाड़ा अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। 

प्रदेश सरकार द्वारा पखवाड़े में प्रतिदिन कहीं न कहीं कार्यक्रम किये जा रहे है। उन्हांेने पितृपक्ष में सभी कृषकों को 5-5 पेड़ प्रदान किये। उन्होंने कहा कि यह पेड़ नीम, अमरूद, नीबूं और आम के दिये जा रहे है, जिन्हें घर, गांव, गोंढ़ा और खेतों की मेढ़ पर लगायें, जिससे पितृपक्ष में पुरूखों को पानी दिया जाता है। ठीक उसी तरह इन वृक्षों में 365 दिन पानी दिया जायेगा, तो एक समय हमें इन पेड़ों से पर्याप्त आॅक्सीजन मिलेगी, फल भी देना प्रारंभ कर देंगे। 

उन्होंने शनिवार को मुरैना विकासखण्ड के ग्राम पढ़ावली में इफको द्वारा वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम के शुभअवसर पर संबोधित करते हुये यह बात कही। केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में इफको द्वारा यूरिया नैनो का निर्माण किया है। यूरिया मनुष्य के लिये एक हानिकारक है, अब तो यूरिया नैनो की बोतल से ड्रोन के द्वारा खेतों में छिड़काव की पद्धति कृषक अपनाने लगे है। 

इससे ड्रोन चलाना वाले व्यक्ति ड्रोन से 20-25 फीट की दूरी पर चलता है, इससे उसे किसी भी हानिकारक बीमारियां नहीं लगती है। उन्होंने एक हजार किसानों को 6 हजार वृक्षों का वितरण किया। उन्होंने अभी तक साढ़े 11 करोड़ किसान के खातों में 1 लाख 62 हजार करोड़ रूपये की राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से भेजी है। 

इसमें कोई बिचोलिया का सहारा नहीं लिया गया है। उन्होंने इस पखवाड़े के अंतिम दिन 7 अक्टूबर को मुरैना जिले के पोरसा, अम्बाह, जौरा, कैलारस, सबलगढ़, बानमौर और झुण्डपुरा में इस प्रकार के पौध वितरण का कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा। इसके लिये इफको द्वारा पौधो का प्रबंध किया जायेगा। श्री तोमर ने कहा कि वृक्ष ही जीवनदाता है। कोविड के दौरान आॅक्सीजन हमारे लिये संजीवनी बन गई थी, इसलिये हम सभी को पेड़ अवश्य लगाना चाहिये। 

व्यक्ति को आॅक्सीजन और पानी मिलता रहे। उन्होंने कहा कि आज कुछ गरीब किसानों को सब्जियों के बीज वितरण किये जा रहें है। यह बीज, बाग-बगीचों में लगायें, जिससे सब्जियां गरीब लोगों को उपलब्ध होंगी। मंत्री श्री तोमर ने कहा कि डीएपी कीे मांग है, इसके लिये इफको विशेष रूचि ले रहा है, अगले वर्ष तक नैनो यूरिया की तर्ज पर डीएपी का नैनो आ जायेगा। कार्यक्रम के अंत में केन्द्रीय मंत्री ने कृषकों को थेले में रखे हुये 5-5 पेड़ सभी को बारी-बारी से वितरित किये।