प्रशासन ने दिन भर की तैयारी, कलेक्टर से लेकर सांसद भी पहुंचे पैतृक निवास…

शुक्रवार को दलदल गांव पहुंचा बलिदानी कर्णवीर का पार्थिव शरीर

सतना। जम्मू-कश्मीर के शोपियां में बुधवार सुबह दो आतंकियों को ढेर कर वीरगति को प्राप्त सतना के वीर सपूत कर्णवीर सिंह राजपूत का पार्थिव देह आज शुक्रवार सुबह छह बजे प्रयाग (इलाहाबाद) से सतना पहुंचेगा जहां उनके गृहग्राम दलदल (छिबौरा) में उन्हें पूरे सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। वीर गति को पाने वाले 26 वर्ष के कर्णवीर सिंह के के एक कंधे में और दूसरी गोली सिर पर लगी है। वे 22 राजपूत रेजिमेंट के जवान थे जो कि शोपियां में पदस्थ थे। उनके पिता रवि कुमार 22वीं राजपूत रेजीमेंट में 2017 में सूबेदार मेजर के पद से सेवानिवृत हुए थे।गुरुवार को जिला प्रशासन और पुलिस विभाग के अधिकारी रामपुर बाघेलान के दलदल गांव पहुंचे और उनके पैतृक निवास जाकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया इसके साथ ही जिले के सांसद, विधायक और जनप्रतिनिधियों का भी उनके ग्राम में पहुंचा जारी है शुक्रवार सुबह 11 बजे उनकी अंत्येष्टि में शामिल होने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी पहुंच रहे हैं। 

इसे देखते हुए कलेक्टर अजय कटेसरिया और पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह यादव भी दलदल गांव पहुंचे और व्यवस्थाएं बनवाईं। 26 वर्षीय जवान कर्णवीर चार वर्ष पहले ही सेना में भर्ती हुए थे।बुजुर्ग पिता को बेटे के बलिदान पर गर्व तो है पर आतंकियों के विरुद्ध गुस्सा भी है। यहां बलिदान की खबर मिलने पर मां मिथलेश की तबीयत बिगड़ गई। कर्णवीर के बड़े भाई शक्ति सिंह इंदौर में इंजीनियर हैं। जानकारी के अनुसार कश्मीर घाटी के आतंक प्रभावित शोपियां के चीरबाग द्रगाड़ इलाके में आतंकियों के खिलाफ चल रहे आपरेशन के दौरान बुधवार की सुबह साढ़े आठ बजे सेना और आतंकियों के बीच उस वक्त एनकाउंटर हुआ जब एक संदिग्ध कार ने सेना के फिक्स पिकेट को पार करने की कोशिश की। 

कार को रोकने पर उसमें सवार आतंकियों ने फायर कर दिए सैन्य जवानों ने मोर्चा संभाला और दो आतंकी ढेर कर दिए। जवाबी हमले में कर्णवीर सिंह राजपूत समेत दो अन्य जवान घायल हो गए। गंभीर रूप से घायल कर्णवीर उपचार के दौरान वीरगति को प्राप्त हो गए वीरगति पश्चात कर्ण का पार्थिव देह गुरुवार को श्रीनगर पहुंचा जहां सेना के जवानों ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की इसके पश्चात इलाहाबाद मुख्यालय उनके देह को लाया गया है जहां से शुक्रवार सुबह 6 बजे रामपुर बाघेलान के दलदल गांव उनका पार्थिव देह लाया जाएगा।इसके लिए जिला प्रशासन ने अंतिम संस्कार की तैयारियां पूरी कर ली है।