सड़कों पर नशेड़ियों को लेकर पुलिस का ढुलमुल रवैया…

हाथ में ब्लेड लेकर लोगों के पीछे दौड़े स्मैकची, पुलिस बेबस !

ग्वालियर में मंगलवार रात दो नशेड़ियों ने सड़क पर जमकर उत्पात मचाया है। दोनों स्मैकची थे और हाथ में ब्लेड लिए थे। पहले ब्लेड लेकर लोगों के पीछे भागे फिर अपने सीने पर मार लिए। आते जाते वाहनों पर पत्थर फेंके। इतना ही नहीं पुलिस का भी उनको खौफ नहीं था। नशेड़ियों को रोकने पहुंची DIAL 100 पर भी पत्थर फेंके और कांच तोड़ दिया।फिर एक नशेड़ी भाग गया, लेकिन दूसरा करीब 40 मिनट तक सड़क पर हंगामा करता रहा। दूसरा अकेला पड़ गया तो लोगों ने घेरा। वह कपड़े उतारकर सड़क पर लेट गया। लोग पास पहुंचे तो वह पड़ा रहा। कुछ देर बाद अचानक खड़ा हुआ और भाग गया। जब तक फोर्स पहुंचा वह भाग चुका था। पुलिस ने स्मैकचियों की पहचान कर ली है। उनकी तलाश की जा रही है। मंगलवार रात नई सड़क पर त्योहार की चहल-पहल और ट्रैफिक के बीच उस समय हंगामा मच गया जब दो नशे में धुत नशेड़ी सड़क पर गाली गलोज करने लगे। इतना ही नहीं अंग्रेजी शराब दुकान के बाहर खड़े यह हंगामा मचा रहे दोनों युवक शराबी नहीं थे बल्कि स्मैकची थे। दोनों के हाथ में ब्लेड थी। पहले उन्होंने पत्थर उठाकर लोगों और गाड़ियों पर फेंकना शुरू कर दिया। कोई रोकने आता तो ब्लेड लेकर उसके पीछे दौड़ने लगते। इस पर लोग घबरा गए। साथ ही पुलिस को सूचना दी। इस पर DIAL 100 की टीम वहां पहुंची। अभी वह कुछ समझ पाते उससे पहले ही एक बड़ा सा पत्थर पुलिस की गाड़ी में मारा और कांच तोड़ दिया। वह पुलिस पर काबू ही नहीं हो रहे थे। सड़क पर हंगामा कर रहे नशेड़ियों की संख्या पहले दो थी। 10 मिनट हंगामा करने के बाद दोनों आपस में ही लड़ने लगे तो एक वहां से भाग गया। पर एक राम नाम का युवक वहीं हंगामा मचाता रहा। जब लोगों ने उसे अकेला समझकर घेरने का प्रयास किया तो उसने खुद में ब्लेड मार ली। इसके बाद वह आधे कपड़े उतारकर सड़क पर लेट गया। पूरा ट्रैफिक रोक दिया। तोड़फोड़ हंगामे की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची तो नशेड़ी उठकर कैलाश टॉकीज की तरफ भाग गया। पुलिस ने जांच की तो पता लगा कि हंगामा करने वाला युवक का नाम राम है। वह पास ही रहता है। पुलिस का कहना है कि उसे उठाने के लिए जवान भेज दिए हैं। जल्दी उसे हिरासत में ले लिया जाएगा।