ट्रिपल आईटीएम के पास सड़क किनारे मिला था अज्ञात महिला का शव… 

महिला की जघन्य हत्या का 36 घण्टे में पर्दाफाश,चार आरोपी गिरफ़्तार

ग्वालियर। दिनांक 21.10.2021 को सुबह लगभग 6 बजे थाना हजीरा में सूचना मिली कि ट्रिपल आईटीएम के पास रोड किनारे एक अज्ञात महिला का शव पड़ा हुआ देखा गया है। सूचना पर थाना प्रभारी हजीरा एवं वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा मौके का निरीक्षण एफएसएल टीम के साथ किया गया। घटना स्थल देखने एवं लाश की स्थिति देखने से यह स्पष्ट हुआ कि अज्ञात महिला की लाश को छिपाने व सबूत मिटने की नियत से यहां लाकर फैका गया है। महिला की शिनाख्त लक्ष्मी उर्फ आरती दुबे निवासी नर्सिंग नगर, चार शहर का नाका ग्वालियर के रूप में हुई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ज्ञात हुआ कि इसकी गला घोटकर हत्या हुई है। जिस पर से थाना हजीरा में हत्या का प्रकरण पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया। 

उक्त महिला की हत्या की घटना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक ग्वालियर अमित सांघी द्वारा अति. पुलिस अधीक्षक शहर मध्य हितिका वासल तथा नगर पुलिस अधीक्षक महाराजपुरा रवि भदौरिया के मार्गदर्शन में एक टीम का गठन किया जाकर उक्त सनसनीखेज हत्याकाण्ड का पर्दाफाश कर आरोपियों की गिरफ्तार हेतु लगाया गया। विवेचना के दौरान आये तकनीकी साक्ष्य व मैदानी सूचना से देह व्यापार से जुड़ी हुई कुछ संदिग्ध महिलाओं की जानकारी प्राप्त हुई, जिनसे पुलिस टीम द्वारा पूछताछ की गई। पूछताछ में प्राप्त जानकारी के आधार पर पुरानी छावनी फलमण्डी के पास रहने वाले एक दंपत्ति को घटना के संबंध में पूछताछ हेतु बुलाया गया, साथ ही पति की सगी बहन और उसके साथ लिब इन रिलेशन में रहने वाले व्यक्ति को भी राउण्ड अप किया गया। कड़ी एवं मनोवेज्ञानिक पूछताछ के बाद उक्त अंधेकत्ल के कारण व परिस्थितियों का खुलासा हुआ। पूछताछ हेतु पकड़े गये । 

उक्त संदिग्ध आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया कि शादी के 18 वर्ष वाद भी उक्त दंपत्ति के कोई संतान नही हुई थी, इस कारण पत्नि ने अपनी ननद और उसके पुरूष मित्र से कुछ उपाय करने के लिये कहा। मुरैना के रहने वाले पुरूष मित्र ने अपने एक परिचित तांत्रिक बाबा से उनको मिलवाया, जिसने कई दिनों तक अनेक प्रकार के टोने-टोटके करवाये। कोई परिणाम प्राप्त न होने की स्थिति में अन्ततः बाबा द्वारा उनको किसी महिला की हत्या शरद पूर्णिमा की रात को देने के लिये कहा गया। इसी अंध विश्वास के चलते ननद द्वारा देह व्यापार से जुड़ी अनेक महिलाओं से संपर्क किया और अपने पुरूष मित्र से उनकी बात कराई। बातचीत के दौरान मृतका को एक रात के लिये कहीं बाहर पैसे लेकर देह व्यापार करने के लिये राजी कर लिया गया। दिनांक 20.10.2021 को मृतका को दंपत्ति के पुरानी छावनी स्थिति घर पर बुलाया गया और मध्य रात्रि के बाद डुपट्टे से मृतिका का गला घोटकर हत्या कर दी। 

हत्या करने के बाद आरोपियों ने अपने मोबाइल से मृतका के फोटो भी लिये। इसके पश्चात शव को ठिकाने लगाने के उद्देश्य से ननद और उसके पुरूष मित्र द्वारा शव को मोटर सायकिल पर बीच में रखकर ले जाया गया। शव को ले जाते समय ट्रिपल आईटीम काॅलेज के सामने पीछे से आ रहे बडे़ वाहनों की लाईट की चकाचैंध में शव को मोटर सायकिल से नीचे जमीन पर गिरा दिया। शव के गिर जाने के बाद यह दोनों लोग मौके से भाग गये। आरोपियों को ग्वालियर से फरार होते समय मुखबिर की सूचना पर से निरावली तिराहे के पास से पुलिस द्वारा अपनी अभिरक्षा में ले लिया गया। घटना में सम्मलित बाबा की गिरफ्तारी के प्रयास जारी है। पुलिस अधीक्षक ग्वालियर द्वारा 36 घण्टे के अन्दर उक्त हत्याकाण्ड का पर्दाफाश कर आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली टीम के सदस्यों को 10 हजार रूपये ईनाम देने की घोषण की है।