शिवराज सरकार को दिया 15 जनवरी तक का अल्टीमेटम…

लट्ठ के दम से होगी शराब बंदी : उमा भारती 

भोपाल। मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी की फायरब्रांड नेता उमा भारती ने शराबबंदी को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने सीएम शिवराज सिंह को चेतावनी देते हुए प्रदेश में 15 जनवरी से शराब बंदी लागू करने को कहा है। उमा भारती ने कहा है कि अगर सरकार जागरूकता से शराब बंदी करना चाहती है तो वह 15 जनवरी तक जागरुकता अभियान चलाए। इसके बाद वे खुद सड़कों पर उतर कर शराब बंदी कराएंगी। उमा भारती ने प्रदेश में शराब बंदी को लेकर सरकार को 15 जनवरी तक का अल्टीमेटम देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा को चिट्ठी लिखी है। उन्होंने लिखा है कि आप 15 जनवरी तक प्रदेश में जन जागरुकता अभियान चलाएं। चार महीने बाद वे खुद शराबबंदी कराने को लेकर सड़कों पर उतर कर लठ्ठ चलाकर शराबबंदी कराएंगी। 

आप को बता दें कि उमा भारती की यह मांग पुरानी है और वे पहले भी कई बार प्रदेश में शराब बंदी किए जाने को लेकर अपनी सरकार पर दबाव बनाती रही हैं, लेकिन पिछले काफी दिनों से वे इस मामले में चुप थी। उन्होंने इस बार अपनी चुप्पी तोड़ते हुए सीधे तौर पर अपनी ही सरकार को चेतावनी दे डाली है। उमा भारती ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि अब बहुत हो चुका सरकार 15 जनवरी से प्रदेश में शराबबंदी का एलान कर दे। नहीं तो वे इस तारीख के बाद अपनी टीम के साथ लठ्ठ से शराबबंदी कराएगीं। दरअसल शराब राज्य सरकार के मिलने वाले राजस्व का बड़ा हिस्सा तय करती है। इसलिए सरकारें इसे लेकर कोई फैसला नहीं लेती हैं। इस मामले में उमा भारती ने शिवराज सरकार को होने वाले लगभग 10 हजार करोड़ के राजस्व के नुकसान की भरपाई का उपाय भी बताने की बात भी कही है। हालांकि उन्होंने यह कहा है कि नुकसान की भरपाई कैसे होगी वो ये शिवराज सिंह चौहान को अकेले में मिलकर बताएंगी। 

पूर्व मुख्यमंत्री उमा ने प्रेस से बात करते हुए कहा है कि वे 15 जनवरी के बाद सक्रीय राजनीति में फिर से वापसी करेंगी, हालांकि उन्होंने यह साफ नहीं किया है कि वे विधानसभा का चुनाव लड़ेंगी या लोकसभा का। शराब बंदी को लेकर लट्ठ लेकर सड़कों पर उतरने के बयान पर भी उन्होंने सफाई दी। उन्होंने कहा कि इससे उनका मतलब सख्त कानून बनाने और उसका सख्ती से पालन कराए जाने को लेकर था। शराब बंदी से लोगों और सरकार को होने वाले फायदे को लेकर उन्होंने बिहार में नीतीश कुमार का सरकार का उदाहरण भी दिया। उमा भारती ने कहा कि वहां भी तमाम विरोध के बाद भी शराब बंदी हुई और उसीका नतीजा है कि दोबारा नितीश कुमार ने सरकार बनाई। उमा भारती ने कहा कि 2008 से लेकर अब तक शिवराज बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। वे अब वे मेरी पंसद बन चुके हैे।