रात 11.48 बजे सीसीटीवी कैमरे कैद हुई घटना…

तीसरी मंजिल से संदिग्ध परिस्थिति में गिरी नाबालिग की मौत 

इंदौर। घर से भागकर अपने प्रेमी के साथ उज्जैन की होटल हाईलाइट में रुकी एक 17 साल की नाबालिग लड़की की रविवार रात होटल की तीसरी मंजिल से गिरने से मौत हो गई। रविवार रात 11.48 पर हुई यह हादसा वहां लगे सीसीटीवी कैमरे कैद हुई है। होटल के जिस कमरे में लड़की और उसका प्रेमी ठहरे हुए थे वहां से पुलिस को आपत्तिजनक सामग्री मिली है। जानकारी के अनुसार नाबालिग कक्षा 11वीं की छात्रा थी। पढ़ाई के साथ वह खेल में भी अव्वल थी। मामले में पुलिस ने होटल मालिक, प्रेमी और उसके दोस्त को हिरासत में लिया है। महाकाल पुलिस के अनुसार बुधवारिया के स्टेट बैंक होटल के समीप रहने वाली 17 वर्षीय किशोरी रविवार रात करीब 12 बजे बेगम बाग मार्ग पर स्थित होटल हाईलाइट की छत से कूद गई। 

बताया जा रहा है कि जिस वक्त किशोरी छत पर भाग कर आई उस दौरान दिल्ली के 2 श्रद्धालु भी छत पर टहल रहे थे। किशोरी एकाएक छत की मुंडेर पर चढ गई, तभी दो युवक उसके पीछे भागते हुए आए थे, जिन्हें देखकर वह छत से कूद गई। नीचे गिरने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। सूचना मिलने पर महाकाल पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों युवकों को गिरफ्तार किया। बताया जा रहा है कि दोनों नाबालिग हैं। किशोरी के स्वजन ने बताया कि उनके पड़ोस में रहने वाला एक लड़का उसे परेशान कर रहा था। 2 माह पूर्व भी इसकी शिकायत कोतवाली थाने में की थी। लड़का मंछामन कॉलोनी में रहता है। परिजनों के अनुसार किशोरी 3 दिन से घर से लापता थी। 

परिजनों ने पुराने पड़ोसी पर अपहरण की शंका जताई थी। दोनों नाबालिग 3 दिन से होटल हाईलाइट में बगैर आईडी के ठहरे हुए थे। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। होटल हाईलाइट हमेशा संदिग्ध मामलों में हाईलाइट रहती है। पूर्व में भी एक वायुसेना अफसर के साथ मारपीट का मामला आया था। जिसे महाकाल पुलिस ने लेनदेन कर रफा-दफा कर दिया था। बताया जा रहा है कि हाईलाइट होटल में  लोग बगैर आईडी के भी ठहर जाते हैं। संदिग्ध क्षेत्र होने के बावजूद पुलिस होटल की जांच करने तक नहीं घुसती। आईजी संतोष कुमार सिंह ने संवेदनशील क्षेत्रों में थाना प्रभारियों व पुलिस की गश्त के निर्देश दिए थे। जिसके बाद जिले के सभी थाना प्रभारी अपने-अपने क्षेत्रों में रात को घूम रहे थे। बावजूद इसके महाकाल पुलिस ने होटलों की जांच तक नहीं की।