BHARAT की शानदार जीत…

न्यायमूर्ति दलवीर भंडारी बने अन्तर्राष्ट्रीय न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश


अन्तर्राष्ट्रीय न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश एक भारतीय को चुना गया है यह भारत की एक शानदार जीत है। पीएम मोदी की चाणक्य कूटनीति से विश्व पटल पर हुई ब्रिटेन की हार। यह एक राष्ट्रीय उदाहरण है कि कैसे पीएम मोदी ने दुनिया भर में संबंध विकसित किए हैं। न्यायमूर्ति दलवीर भंडारी को अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में चुना गया है। 

उन्हें 193 मतों में से 183 मत (प्रतिनिधित्व वाले प्रत्येक देश से एक) प्राप्त हुए और उन्होंने ब्रिटेन के न्यायमूर्ति क्रिस्टोफर ग्रीनवुड को हराया, इससे भारत ने ब्रिटेन के इस पद पर 71 साल के एकाधिकार को तोड़ दिया। इसे हासिल करने के लिए पीएम मोदी और विदेश मंत्रालय पिछले 6 महीने से काम कर रहे थे, सभी 193 देशों के प्रतिनिधियों से संपर्क करना और उन्हें ब्रिटेन के एक उम्मीदवार के बारे में भारत की स्थिति के बारे में समझाना बहुत मुश्किल काम था, लेकिन इसे आसानी से जीतना सुनिश्चित था। 

11 राउंड की वोटिंग में, जस्टिस दलवीर भंडारी साब को आम सभा में 193 में से 183 वोट मिले और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्यों के 15 में से सभी 15 वोट मिले। जस्टिस भंडारी 9 साल के कार्यकाल के लिए इस पद पर रहेंगे। यह एक उत्कृष्ट उदाहरण है कि मोदीजी ने दुनिया भर के देशों के साथ हमारी आजादी के 70 साल बाद कितने शालीन, सम्मानजनक और महान संबंध बनाए हैं। मोदी है तो मुमकिन है.