धमाके की आवाज सुन मची अफरा-तफरी…

JAH में ऑक्सीजन सिलेंडर का नोजल फटने से हुआ धमाका

जयारोग्य चिकित्सालय में कैजुअल्टी और ट्रॉमा सेंटर के बीच लगी ऑक्सीजन यूनिट में रविवार-सोमवार की रात करीब एक बजे तेज धमाका हुआ और तेजी से गैस निकलने लगी। धमाके की आवाज सुनकर मरीज के अटेंडेंट और डॉक्टर्स बाहर आ गए और अफरा-तफरी मच गई। यह धमाका ऑक्सीजन सिलेंडर का नोजल फटने के कारण हुआ। अस्पताल अधीक्षक ने ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी को नाेटिस जारी किए जाने की बात कही है। जयारोग्य के कैजुअल्टी व ट्रॉमा सेंटर के बीच में ऑक्सीजन यूनिट लगी है। इससे ट्रॉमा सेंटर और कैजुअल्टी में सेंट्रल लाइन के माध्यम से ऑक्सीजन सप्लाई होती है। 

रविवार-सोमवार की रात करीब 1 बजे ड्यूटी पर मौजूद कर्मचारी ने नशे की हालत में ऑक्सीजन सिलेंडर बदलने के लिए भरा सिलेंडर उठाया। जिसे वह संभाल नहीं पाया और सिलेंडर गिर गया। सिलेंडर गिरते ही तेज धमाके के साथ उसका नोजल फट गया। धमाके की सूचना फायर ब्रिगेड और पुलिस को दी गई। गनीमत यह रही कि एक ही नोजल फटा था और चार सिलेंडर चालू थे। इसलिए कोई बड़ा हादस टल गया। फायर ब्रिगेड व पुलिस भी मौके पर पहुंच गई थी। ऑक्सीजन यूनिट में धमाके की आवाज सुनकर सुरक्षा कर्मी मौके पर पहुंच गए। सुरक्षा कर्मियों ने जब उससे कहा कि नशे की हालत में काम कैसे कर रहे हो तो वह उनसे उलझ गया। सुरक्षा कर्मियों को वह यूनिट से बाहर निकालने लगा। कर्मचारी का नाम भंडारी बताया जा रहा है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को संभाला। 

ऑक्सीजन यूनिट में सिलेंडर का नोजल फट गया था, जिसके कारण धमाका हुआ। पांच सिलेंडर में से एक का ही नोजल फटा था। इस कारण ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित नहीं हुई। दोषी पर कार्रवाई होगी - डॉ. देवेंद्र सिंह कुशवाह, पीआरओ, जेएएच