पैरालंपिक रिकॉर्ड के साथ जीता गोल्ड…

भारत की पैरा शूटर अवनि लेखरा ने रचा इतिहास

टोक्यो पैरालिंपिक खेलों में भारत की पैरा शूटर अवनि लेखरा ने इतिहास रच दिया है. अवनि ने महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग SH1 इवेंट में नया पैरालिंपिक रिकॉर्ड बनाते हुए गोल्ड पर निशाना साधा है. अवनि ने कुल 249.6 का स्कोर बनाया जो की पैरालिंपिक खेलों का नया रिकॉर्ड है. चीन की सी झांग (248.9 अंक) ने इस इवेंट का सिल्वर मेडल जबकि यूक्रेन की इरीना स्खेतनिक (227.5 अंक) ने कांस्य पदक अपने नाम किया. टोक्यो पैरालिंपिक खेलों में ये भारत का पहला गोल्ड मेडल है इस से पहले भारत के एथलीटों ने कल दो सिल्वर मेडल अपने नाम किए थे. अवनि इस इवेंट के क्वालिफिकेशन राउंड में सातवें स्थान पर रही थीं. 

फाइनल में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया और गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाया. इसके साथ ही ये टोक्यो पैरालिंपिक में भारत के तीसरा कंफर्म मेडल है. इस से पहले निषाद कुमार ने हाई जंप और भाविना पटेल ने टेबल टेनिस में सिल्वर मेडल जीता था. भारत के एक अन्य पैरा एथलीट विनोद कुमार ने डिस्क्स थ्रो के F52 कैटेगरी में ब्रॉन्ज मेडल जीता था, लेकिन फिलहाल उनका रिजल्ट होल्ड पर रखा गया है. नौ राउंड के इस फाइनल मुकाबले में अवनि को चीनी एथलीट सी झांग से कड़ी टक्कर का सामना करना पड़ा. झांग ने क्वॉलिफिकेशन राउंड में टॉप पोजिशन हासिल की थीं और वो इस मुकाबले में गोल्ड की प्रबल दावेदार थीं. 

हालांकि अवनि ने अपने अचूक निशानों के दम पर झांग को मात देकर गोल्ड अपने नाम कर लिया. अवनि ने नौ राउंड में 52.0, 51.3, 21.6, 20.8, 21.2, 20.9, 21.2, 20.1, 20.5 के साथ कुल 249.6 का स्कोर बनाया जो की पैरालिंपिक खेलों का नया रिकॉर्ड है. अवनि राजस्थान के जयपुर की रहने वाली हैं. महज 11 साल की वो एक रोड एक्सीडेंट का शिकार हो गई थीं. इस एक्सीडेंट में अवनि स्पाइनल कॉर्ड इंजरी के चलते पैरालाइज हो गईं थीं. महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग SH1 इवेंट में अवनि विश्व रैंकिंग में पांचवे पायदान पर मौजूद हैं.