अपने साथ ला रहे हैं गुरु ग्रंथ साहिब की 3 प्रतियां…

आज भी दुशांबे के रास्ते लौटेंगे काबुल में फंसे भारतीय

नई दिल्ली। काबुल में फंसे भारतीयों को वापस लाने का सिलसिला जारी है. आज दुशांबे से एयर इंडिया विमान के जरिए कुछ और भारतीयों को दिल्ली लाया जाएगा. कल इन भारतीयों को काबुल से दुशांबे पहुंचाया गया था.  दुशांबे से भारतीयों के साथ अफगान सिख और हिंदू परिवार भी भारत आ रहे हैं. तालिबान के अत्याचार से बचकर भारत आ रहे सिख समुदाय के लोग काबुल गुरुद्वारे से अपने साथ पवित्र गुरु ग्रंथ साहिब की तीन प्रतियां लेकर आज दिल्ली आने वाले है. गुरु ग्रंथ साहिब की ये तीनों प्रतियां दिल्ली के न्यू महावीर नगर गुरुद्वारे में रखी जाएंगी. 

अफगानिस्तान में तालिबान कब्जे के बाद लगातार खराब होते हालात के बीच भारत सरकार के रेस्क्यू ऑपरेशन मिशन काबुल के जरिए लगातार हिंदुस्तानियों को सुरक्षित निकाला जा रहा है. भारत सरकार अपने नागरिकों के अलावा अफगानी सिख और हिंदूओं को भी वापस ला रही है. अफगानिस्तान में हालात दिन पर दिन कितने बदतर होते जा रहे है उसका खौफनाक तस्वीर अफगानिस्तान से रेस्क्यू कर लाए जा रहे लोगों की आंखों से साफ दिख रहा है. तालिबान के दरिंदों ने अफगानिस्तान में महिलाओं की स्थिति बर्बाद कर दी है. तालिबान के साये में वहां फंसी महिलाएं पल-पल खौफ के साये में जीने पर मजबूर है और जो तालिबानी राज से बचकर वापस आ गई है वो अब तक उस काली रात के खौफ को भूला नहीं पाई है. 

अफगानिस्तान में खौफ और खतरे से भरे माहौल के बीच से भारत सरकार अब तक 736 से ज्यादा लोगों को तालिबानी आतंक से बचाकर वापस ले आई है. आज भी दुशांबे से कई लोग एयर इंडिया विमान से दिल्ली आ रहे हैं. इस विमान ने कल काबुल से दुशांबे के लिए उड़ान भरी थी. काबुल से लोगों को सुरक्षित बचाकर वापस लाने के लिए वायुसेना के सी-17, सी-19 , एयरफोर्स का 130जे और एअर इंडिया के विमान लगातार लगे हैं. भारत सरकार की कोशिश है कि काबुल में हालात और बिगड़ने से पहले सभी भारतीय नागरिकों और अफगानी हिंदू और सिख लोगों को वापस लाया जा सके.