धर्म गुरूओं की वर्चुअल बैठक को किया संबोधित…

क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी और धर्म गुरुओं के सहयोग से हम महामारी पर काबू पाने में सफल रहे : श्री राजपूत

भोपाल। कुछ दिनों से दमोह जिले में कोई केस नहीं आ रहा हैं। कोरोना महामारी से निपटने के लिए सरकार ने पूरे मध्यप्रदेश में बहुत अच्छी व्यवस्था मुख्यमंत्री के नेतृत्व में की है। मुख्यमंत्री समय-समय पर व्हीसी के माध्यम से चर्चा करते हैं। कैबिनेट की बैठक में भी वे हमेशा चिंतित रहते हैं। मुख्यमंत्री जी ने कहां है महा अभियान पुनः प्रारंभ करने की आवश्यकता है, बहुत सारी सफलता पिछले वैक्सीनेशन अभियान के तहत मिली है। इस आशय के विचार जिले के कलेक्टर एवं उनकी पूरी टीम को बधाई देते हुये प्रदेश के परिवहन एवं राजस्व तथा दमोह जिले के प्रभारी मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने धार्मिक गुरूओं और अधिकारियों की वर्चुअली बैठक को संबोधित करते हुए कही। दमोह के प्रभारी मंत्री श्री राजपूत ने कहा 25 और 26 तारीख को वैक्सीनेशन महाअभियान शुरू होने वाला है, मुझे पूरा विश्वास है इस महाअभियान में भी हमें सफलता मिलेगी। 

सभी अधिकारी-कर्मचारी ने एक टीम वर्क की तरह काम किया, क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी और धर्म गुरुओं का भी बहुत सहयोग रहा, जिस कारण से हम उस महामारी को काबू पाने में सफल रहे। उन्होंने कहा सरकार ने सारी तैयारी कर ली है, ऑक्सीजन की कोई समस्या नहीं है, दूसरे महामारी के दौरान ना कलेक्टर, मुख्यमंत्री और ना ही कोई मंत्री सो पा रहा थे। मुख्यमंत्री प्रतिदिन 4 घंटे सो पाते थे और रात-दिन व्यवस्था में लगे रहते थे। अब आक्सीजन की पूर्ति हो गई है और कोरोना की दूसरी लहर के बीच में ही ऑक्सीजन सरप्लस हो गई थी। उन्होंने कहा दमोह, सागर, कटनी आसपास के सभी जिलों में ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था है। प्रभारी मंत्री श्री राजपूत ने कहा अधिकारी-कर्मचारियों का यह दायित्व है, तीसरी लहर हमारे जिले में ना आने पाए। हमें बहुत सतर्क रहना है, जांच करवाना है और कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना है। 

साथ ही यह चिंता भी करनी है कि वैक्सीन का दूसरा डोज हर व्यक्ति को लग जाए। उन्होंने कहा व्यक्ति को स्वयं इस बात का आभास होना चाहिए कि प्रधानमंत्री मोदी पूरे विश्व में पहले प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने करोड़ों-अरबों रूपये की मुफ्त वैक्सीन हमारे देशवासियों को लगवा रहे हैं। भारत के प्रधानमंत्री   किसी से एक पैसा नहीं ले रहे हैं, सभी को मुफ्त वैक्सीन लगवा रहे हैं, यह बहुत खुशी की बात है। जितने चिंतित हम हैं, उससे कहीं ज्यादा हमारे प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री चिंतित हैं, सरकारें हैं, उतने ही चिंता और मेहनत के साथ हमारे अधिकारी-कर्मचारी काम पर लगे हुए हैं। राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने सभी अधिकारी-कर्मचारियों को धन्यवाद देते हुये कहा, आपकी मेहनत, लगन, तपस्या तथा कोरोनाकाल में सभी विभागों का सहयोग रहा। 

जिस अपेक्षा और उम्मीद से आप लोगों ने काम किया है, उस अपेक्षा और उम्मीद से कहीं ज्यादा इस बात का आभास हमारे मुख्यमंत्री, सभी मंत्री और सरकार को है। उन्होंने कहा सरकार ने जिस आशा और उम्मीद के साथ यह जन अभियान चलाया है, उस अभियान में दमोह जिला अब्बल रहेगा। पिछले कुछ दिनों में कोरोना के केस आए थे, कलेक्टर और उनकी पूरी टीम को बहुत-बहुत बधाई कि अब जिले में कोई अब कोई एक्टिव केस नहीं। कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य ने वर्चुअली बैठक से जुड़े अधिकारियों से कहा कि यह अभियान फोकस करके करना है। 25 तारीख को 40 हजार एवं 26 तारीख को 20 हजार डोज लगाये जायेंगे। मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार सभी धर्म गुरुओं को इस अभियान में सहयोग हेतु आग्रह किया जा रहा है। 25 तारीख को पूरे जिले में 197 सेंटर बनाए जा रहे हैं। दमोह जिले में अभी तक प्रथम डोज 60 प्रतिशत और सेकेण्ड डोज 8 प्रतिशत से ज्यादा डोज लगाये गये है।