नए कृषि कानूनों की वापसी समेत की ये मांग…

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर ने PM मोदी से की मुलाकात

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह मंगलवार को केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलने के एक दिन बाद बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की. पंजाब सरकार ने कहा कि इस दौरान अमरिंदर ने विवादित तीन ने नए कृषि सुधार संबंधी कानूनों को वापस लेने और किसानों को मुफ्त कानूनी सहायता श्रेणी में लाने के लिए संशोधन करने की मांग की. पीएम मोदी के साथ बैठक के दौरान कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि किसानों के लगातार आंदोलन होने से का असर न सिर्फ आर्थिक गतिविधियों पर हो रहा है बल्कि सामाजिक ताने-बाने को भी प्रभावित करने की क्षमता रखता है, खासकर जब राजनीतिक दल और किसान समूह कड़ा पॉजिशन लेते हैं. 

इससे पहले, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की और उनसे किसानों के लंबे समय से चल रहे आंदोलन के सामाजिक, आर्थिक और सुरक्षा प्रभावों का हवाला देते हुए तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की अपील की. उनके कार्यालय से जारी बयान के अनुसार सिंह ने पंजाब के सीमावर्ती राज्य होने का हवाला देते हुए पाकिस्तान समर्थित आतंकी ताकतों से बचाव के लिए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल की 25 कंपनियां तथा सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के लिए ड्रोनरोधी उपकरणों की भी मांग की. 

उन्होंने हिंदू मंदिरों, प्रमुख किसान नेताओं, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कार्यालयों, आरएसएस-भाजपा के नेताओं को निशाना बनाये जाने की आशंका का भी हवाला दिया. मुख्यमंत्री ने बैठक के दौरान कहा कि कृषि कानूनों ने पंजाब एवं अन्य राज्यों में किसानों के बीच बड़ा असंतोष पैदा किया है, इसलिए इन कानूनों को निरस्त कर दिया जाना चाहिए. उन्होंने सीमापार की शत्रु शक्तियों द्वारा सरकार के विरूद्ध इस असंतोष एवं नाराजगी का फायदा उठाने की आशंका को लेकर चिंता प्रकट की और किसानों की चिंताओं का शीघ्र हल निकालने की मांग की.