तालिबान के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध बनाने को तैयार…

तालिबान सरकार को चीन सहित 4 देश देंगे मान्यता

आतंकी संगठन तालिबान ने अब अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया है. एक आतंकी संगठन की सरकार को मान्यता देने को लेकर वैश्विक रूप से उहापोह की स्थिति है लेकिन जिस तरह के हालात दिखाई दे रहे हैं, उनमें कुछ देश तालिबानी सरकार को मान्यता देने में नरम रुख अपनाते दिख रहे हैं. खबर आई है कि चीन, रूस, तुर्की और पाकिस्तान जैसे देश काबुल में अपना दूतावास नहीं बंद करेंगे. 

ये चारों देश अपना दूतावास तालिबान सरकार में भी पूर्ववत चलाते रहेंगे. इस बीच चीन ने आज स्पष्ट कर दिया है कि वह तालिबान सरकार से दोस्ताना रिश्ते रखना चाहता है. समाचार एजेंसी AFP के अनुसार चीन ने कहा, अफगानिस्तान तालिबान के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध बनाने को तैयार है. तालिबान के कब्जे के बाद यह चीन की ओर से पहली टिप्पणी है. वहीं रूस की तरफ से कहा गया है कि यह तालिबान के व्यवहार पर निर्भर करेगा कि उसे मान्यता दी जाए या नहीं.