नागबेरन त्राल वन के ऊपरी इलाकों में चल रही थी मुठभेड़…

अवंतीपोरा में सुरक्षाबलों ने जैश के तीन आतंकवादियों को मार गिराया

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने शनिवार को जैश ए मोहम्मद के तीन आतंकवादियों को मार गिराया है। फिलहाल इलाके में तलाशी अभियान चल रहा है। जानकारी के अनुसार, अवंतीपोरा के नागबेरन त्राल के वन इलाके के ऊपरी इलाकों में यह मुठभेड़ चल रही थी। दरअसल, खुफिया एजेंसियों को सूचना मिली थी कि वन इलाके में कुछ आतंकी छिपे हैं। सूचना मिलते ही जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना के जवानों ने इलाके को घेर लिया। आतंकियों ने खुद को घिरा देख सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने आतंकियों को समर्पण के लिए कहा, लेकिन आतंकी नहीं माने। आतंकी लगातार सुरक्षाबलों पर फायरिंग करते रहे। इस पर सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े तीन आतंकियों का खात्मा कर दिया। 

इससे पहले दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले के ख्रीव में सुरक्षाबलों ने गुरुवार को रातभर चली मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के दो आतंकियों को मार गिराया। मारे गए आतंकी हिजबुल के हिट स्क्वायड के सदस्य थे जो इलाके में नागरिकों की हत्या के लिए जिम्मेदार थे। दोनों आतंकी कई नागरिक हत्याओं में शामिल थे। इनसे एक एके 47 राइफल, एक पिस्टल तथा अन्य आपत्तिजनक सामग्रियां बरामद की गई हैं। सुरक्षाबलों का मानना है कि इनके मारे जाने से इलाके में नागरिकों के उत्पीड़न में कमी आएगी। सैन्य प्रवक्ता ने बताया कि वीरवार की देर रात पुलिस ने ख्रीव में दो आतंकियों की मौजूदगी की सूचना दी। इस पर 50 राष्ट्रीय राइफल्स, पुलिस व 185 बटालियन सीआरपीएफ ने रात के एक बजे गांव की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू कर दिया। 

घेरा सख्त होता देख मकान में छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। हालांकि, सुरक्षाबलों ने संयम बरता। उन्होंने तत्काल उस मकान और आस-पास के इलाके को खाली कराया जहां आतंकी छिपे थे ताकि वे क्रास फायरिंग की चपेट में न आएं। इसके बाद कई बार आतंकियों को समर्पण करने के लिए कहा गया, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया। रुक रुककर रातभर फायरिंग होती रही। सुबह साढ़े छह बजे एक आतंकी ने फायरिंग करते हुए सुरक्षा घेरा तोड़कर भागने की कोशिश की, लेकिन उसे मार गिराया गया। इसके बाद भी दूसरा आतंकी लगातार फायरिंग करता रहा, जिसे सुबह सवा नौ बजे मार गिराया गया। आईजी विजय कुमार ने बताया कि मारे गए दोनों आतंकी हिजबुल के हिट स्क्वायड के सदस्य थे। 

यह स्क्वायड दक्षिणी कश्मीर में नागरिकों की हत्या के लिए जिम्मेदार है। मारे गए आतंकियों में एक ख्रीव का मुसैब मुश्ताक भट था, जो कई नागरिकों की हत्या में शामिल था। वह लुरगाम में 23 जुलाई को गर्ल्स हाईस्कूल पस्तूना के कर्मचारी जावेद अहमद मलिक समेत कई अन्य नागरिकों की हत्या में शामिल था। दूसरे की शिनाख्त चाकूरा पुलवामा के मुजम्मिल अहमद राथर के तौर पर हुई है। आईजी के अनुसार मुसैब का एक बड़ा टेरर क्राइम रिकॉर्ड है। वह कई आतंकी गतिविधियों की योजना बनाने और उन्हें अंजाम देने में शामिल रहा है। मुजम्मिल हाल ही में आतंकवाद में शामिल हुआ था। फि लहाल पुलिस ने लोगों से मुठभेड़ स्थल से दूर रहने की भी गुजारिश की है ताकि किसी प्रकार की अनहोनी न होने पाए।