गोल्ड मेडल विजेताओं के कोच को 12.5 लाख देगा IOA

मीराबाई चानू ने वेटलिफ्टिंग में भारत को दिलाया रजत पदक

मीरबाई चानू ने वेटलिफ्टिंग के 49 किग्रा भार वर्ग में भारत को रजत पदक दिलाकर करोड़ों भारतीय खेल प्रशंसकों को खुशियों की बारिश में तर कर दिया है. उन्होंने दुनिया भर में भारतीय महिला की ताकत का एहसास कराते हुए खुद का नाम भारतीय खेल इतिहास में सुनहरे अक्षरों में लिख दिया है. मीराबाई चानू ने स्नैच वर्ग में 87 किग्रा और क्लीन एंड जर्क कैटेगिरी में 115  किलो का वजन उठाया.  उन्होंने कुल 202 किग्रा वजन उठाकर रजत पदक अपने नाम किया. इससे पहले कर्णम मल्लेश्वरी ने सिडनी ओलंपिक 2000 में देश को भारोत्तोलन में कांस्य पदक दिलाया था. चीन की होऊ झिऊई ने कुल 210 किग्रा (स्नैच में 94 किग्रा, क्लीन एवं जर्क में 116 किग्रा) से स्वर्ण पदक अपने नाम किया. इंडोनेशिया की ऐसाह विंडी कांटिका ने कुल 194 किग्रा का वजन उठाकर कांस्य पदक हासिल किया.  

बता दें कि साल 2000 में कर्णम मल्लेश्वरी के बाद ओलिंपिक में वेटलिफ्टिंग में पदक जीतने वाली सिर्फ दूसरी वेटलिफ्टर बन गयी हैं. साल 2016 में रियो ओलिंपिक में मीराबाई क्लींन एंड जर्क में एक भी भार नहीं उठा पायी थीं, लेकिन हालिया सालों में जमकर मेहनत करते हुए इस वेटलिफ्टर ने अपने साथ-साथ करोड़ों भारतीयों के सपने को भी साकार कर दिया. वहीं, 10 मी. एयर पिस्टल वर्ग के फाइनल में पहुंचे युवा शूटर सौरभ चौधरी स्वर्ण की लड़ाई में चूक गए और वह आठ में से सातवें नंबर पर रहे. सौरभ ने 137.4 का स्कोर किया. इसके अलावा शनिवार को भारतीय हॉकी टीम ने भी जीत के साथ आगाज किया. मुक्केबाजी में शुरुआत निराशाजनक रही है और विकास कृष्णन क्वार्टरफाइनल में जगह नहीं बना सके. उन्हें जापानी बॉक्सर ने 5-0 से मात दी. विकास कृष्णन मुक्केबाजी स्पर्धा के वेल्टरवेट वर्ग (69 किग्रा) में राउंड 32 में जापान के मेनसाह ओकाजावा से 0-5 से हारे.

टोक्यो में खेले जा रहे ओलंपिक खेलों में सिल्वर मेडल (रजत पदक) जीतने वाली मीराबाई चानू के कोच विजय शर्मा को भारतीय ओलंपिक संघ यानी इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) 10 लाख रुपये नकद पुरस्कार देगा. इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन ने आज टोक्यो ओलंपिक में मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों के कोचों (प्रशिक्षकों) के लिए पुरस्कार राशि की घोषणा की.  इसके अनुसार गोल्ड मेडल (स्वर्ण पदक) विजेता खिलाड़ी के कोच को 12.5 लाख रुपये, सिल्वर मेडल (रजत विजेता) के कोच को 10 लाख रुपये और ब्रॉन्ज मेडल (कांस्य पदक) विजेता के कोच को 7.5 लाख रुपये दिये जाएंगे. आईओए महासचिव राजीव मेहता ने कहा, "हमें ओलंपिक पदक विजेता खिलाड़ी तैयार करने के लिये प्रशिक्षकों को भी पुरस्कृत करना होगा. वे दिन रात खिलाड़ियों का मार्गदर्शन करते हैं. वे भी खिलाड़ियों की तरह कड़ी मेहनत और बलिदान कर रहे हैं." 

आईओए ने गुरुवार को घोषणा की थी कि वह टोक्यो ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता को 75 लाख और प्रत्येक भागीदार राष्ट्रीय खेल महासंघ को बोनस के रूप में 25 लाख रुपये देगा. उसने रजत पदक विजेता के लिये 40 लाख रुपये और कांस्य पदक विजेता के लिये 25 लाख रुपये की घोषणा की. टोक्यो ओलंपिक के पहले ही दिन भारत मेडल लिस्ट में अपना खाता खोलने में कामयाब हो गया है. मीराबाई चानू ने वेटलिफ्टिंग में महिला 49 किलोग्राम वर्ग में सिल्वर मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है. ओलंपिक खेलों के इतिहास में भारत का पांचवां सिल्वर मेडल है. मीराबाई चानू दूसरी महिला वेटलिफ्टर हैं, जिन्होंने ओलंपिक में भारत के लिए मेडल जीता है. टोक्यो ओलंपिक में चीन की जजिहू को वेटलिफ्टिंग के 49 किलोग्राम इवेंट में गोल्ड मेडल मिला है.